समाजसेवी डॉ. मल्लिका नड्डा को स्पैशल ओलिम्पिक भारत का अध्यक्ष चुना गया है। यह निर्णय बोर्ड की बैठक में लिया गया है। उन्होंने पूर्व अध्यक्ष एवं ध्यानचंद अवार्डी सतीश पिल्लई का कार्यभार संभाला है। मल्लिका नड्डा इससे पहले स्पैशल ओलिम्पिक भारत की वाइस चेयरमैन थीं। समाजसेवी होने के साथ-साथ मल्लिका नड्डा असहाय एवं दिव्यांगों के पुनर्वास के लिए भी लंबे समय से काम कर रही हैं।

इसमें सबसे अहम भूमिका स्पैशल ओलिम्पिक भारत की हिमाचल इकाई को स्थापित करने को लेकर है। इसके अलावा असहाय व दिव्यांग बच्चों के लिए बिलासपुर में चेतना संस्था की स्थापना की थी जो मानसिक रूप से दिव्यांग बच्चों के लिए विशेष कार्य करती है।

कार्यभार को संभालने के बाद डॉ. मल्लिका नड्डा ने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण वह पिछले 1 वर्ष में कार्य करने में कुछ असमर्थ रही हैं लेकिन फिर भी जिनके पास डिजिटल रूप से कार्यक्रम पहुंचे हैं वे काफी बेहतर रहे हैं। उन्होंने विशेष मार्शल आंदोलन के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी एयर मार्शल डेंजेल किलर के प्रति आभार प्रकट किया और कहा कि सभी राज्यों में विशेष ओलिम्पिक के सदस्य और पदाधिकारी आपस में मिलकर कार्य करेंगे।

बता दें कि विशेष ओलिम्पिक भारत एक राष्ट्रीय खेल महासंघ है जिसे देश में खेल और विकास कार्यक्रमों के संचालन के लिए विशेष ओलिम्पिक द्वारा मान्यता मिली हुई है। वर्ष 2006 से बौद्धिक दिव्यांग लोगों के लिए यह खेलों का आयोजन कर रहा है और देश में डेढ़ लाख से अधिक एथलीट पंजीकृत हैं।

error: Content is protected !!