हिमाचल में पड़ रहे सूखे के बीच मौसम ने एक बार फिर करवट ले ली है। मौसम विभाग के जारी अलर्ट के अनुसार रविवार को प्रदेशभर में दोपहर बाद अचानक मौसम बदला और राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई जिलों में बादल छा गए। इस दौरान जहां रोहतांग सहित ऊंची चोटियों में हल्का हिमपात हुआ, वहीं कांगड़ा, नयनादेवी, डल्हौजी व रोहड़ू में हल्की बारिश हुई। विभाग के अनुसार डल्हौजी में 2, कांगड़ा में 1 और रोहड़ू में 1.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। मौसम में आए बदलाव के बाद अधिकतम तापमान में हल्की कमी दर्ज की गई है। मौसम विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार प्रदेश में आगामी 2 दिन मौसम खराब रहेगा। इसके लिए विभाग ने यैलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि आगामी 2 दिन प्रदेश के मैदानी व मध्यम पर्वतीय क्षेत्रों में मौसम खराब रहेगा। इस दौरान ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्का हिमपात भी हो सकता है और अधिकतर क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना है।

पिछले करीब डेढ़ महीने से ज्यादा समय से बारिश न होने के कारण प्रदेश में सूखे की स्थिति उत्पन्न हो गई है। पानी के स्रोतों में पानी बहुत कम हो गया है। पानी की कमी से किसानों की फसलें सूखने की कगार पर हैं, ऐसे में अगर जल्द बारिश नहीं होती है तो किसानों को भारी नुक्सान उठाना पड़ सकता है, वहीं ऊपरी क्षेत्रों में सेब की फसल पर भी संकट के बादल छाए हुए हैं। समय से पहले गर्मियां शुरू होने के कारण सेब की फसल में इस बार करीब 10 से 15 दिन पहले ही पिंक बड स्टेज आ गई है लेकिन नमी न होने के कारण सेब की सैटिंग प्रभावित हो सकती है।

जल शक्ति विभाग की बैठक 23 को
जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने राज्य में सूखे के हालात को ध्यान में रखते हुए 23 मार्च को विभागीय अधिकारियों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में अधिकारियों को अपने क्षेत्रों के हालात की जानकारियां उपलब्ध करवाने को कहा गया है, साथ ही उनसे ऐसी पेयजल योजनाओं की जानकारी उपलब्ध करवाने को भी कहा गया है जिनमें जलस्तर पर्याप्त है। ऐसी योजनाओं से भविष्य में सूखे की स्थिति में उन पेयजल योजनाओं को पाइपों के माध्यम से पानी उपलब्ध करवाया जाएगा जो सूख चुकी हैं।

किसानों व बागवानों को मिलेगी राहत
मौसम विभाग ने सोमवार को भी निचले एवं मध्यम पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश व बर्फबारी का अनुमान जताया है। ऐसे में अगर बारिश व बर्फबारी होती है तो प्रदेश के लोगों को जहां गर्म मौसम से हल्की राहत मिलेगी तो वहीं सबसे ज्यादा फायदा प्रदेश के किसानों व बागवानों को होगा।

कहां कितना रहा तापमान
शहर अधिकतम तापमान

शिमला 20.0 डिग्री सैल्सियस
सोलन 27.6 डिग्री सैल्सियस
सुंदरनगर 28.3 डिग्री सैल्सियस
बिलासपुर 30.0 डिग्री सैल्सियस
हमीरपुर 29.8 डिग्री सैल्सियस
ऊना 30.0 डिग्री सैल्सियस
धर्मशाला 20.0 डिग्री सैल्सियस
कांगड़ा 26.5 डिग्री सैल्सियस
डल्हौजी 14.0 डिग्री सैल्सियस

error: Content is protected !!