खरीक थाना क्षेत्र के तुलसीपुर में एक महिला और उसकी दो साल की बच्ची को केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया गया। बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई जबकि इलाज के दौरान महिला ने मायागंज अस्पताल में दम तोड़ दिया। महिला 80 फीसद जली थी। 23 वर्षीय पीड़ित महिला बेचनी देवी के पति विनय कापरी पहले ही मौत हो चुकी है।

घटना रविवार देर शाम की बताई जा रही है। महिला के ससुराल वालों फरार हैं। घटना की जानकारी लोगों को तब हुई जब रविवार की शाम महिला के मायके वाले खरीक थाना पहुंचे। पुलिस ने पड़ोसी के यहां छिपी महिला की सास जयमाला देवी को पूछताछ करने के लिए हिरासत में ले लिया। वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए नवगछिया भेजा गया है।

मायके वालों ने आरोप लगाते हुए कहा कि ससुराल वालों ने पूरी तैयारी के साथ उनकी बेटी और बच्ची को आग लगाकर मारना चाहते थे। वे घटना को दुर्घटना का रूप देने और अपने किए को छुपाने के लिए अंतिम स्थिति में वे इलाज के लिए पीएचसी लेकर आए। पहले भी ये लोग बेटी को काफी प्रताड़ित करते थे। कई बार ससुराल वालों को समझाया भी गया था। ये लोग अपनी हरकत से बाज नहीं आए और अंततः सब बर्बाद कर दिया।

पहली पत्नी को भी ससुराल वालों ने मार डाला है

ग्रामीणों का कहना था कि महिला के पति ने बेचनी देवी से दूसरी शादी की थी। उसने पहली पत्नी को भी जहर खिलाकर मार डाला था। इसके बाद बेचनी देवी से दूसरी शादी की। शादी के बाद कुछ दिनों तक सबकुछ ठीक रहा। इसके बाद करीब ढाई साल पूर्व महिला के पति विनय कापरी की गंभीर बीमारी से मौत हो गई। जिसके बाद सास, गोतनी, देवर समेत सभी ससुराल वालों ने प्रताड़ित करने लगे। पुलिस हिरासत में घायल महिला की सास ने बताया कि उसकी बहू ने खुद यह सब किया है। थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि महिला की सास जयमाला देवी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

error: Content is protected !!