श्रमिक कल्याण बोर्ड तीन साल से नही बांटे मनरेगा मजदूरों को प्राइज, विभागिय मुख्य सचिव से की वितरण की मांग

Read Time:2 Minute, 56 Second

Himachal News: कामगार संगठन ने श्रमिक कल्याण बोर्ड से कामगारों को मिलने वाली सुविधाओं को जल्द स्वीकृत करने तथा वितरण को लेकर संबधित विभाग के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर आग्रह किया है। जानकारी देते हुए ग्रामीण कामगार संगठन के अध्यक्ष व पूर्व जिला परिषद संत राम ने बताया कि जिला मंड़ी के सराज व बालीचौकी ब्लाक में मनरेगा मजदूरों ने तीन साल पहले विभाग की तरफ से दी जाने वाली सुविधाओं के लिए आवेदन किया है। लेकिन अभी तक स्वीकृति विभाग की तरफ से नही मिल रही है। जिसके कारण हजारों मनरेगा मजदूर परेशान हो गये है।

वहीं 2020 में मनरेगा मजदूरों के द्वारा विभाग द्वारा नियम के तहत छात्र छात्रवृति के आवेदन किया हुआ है। लेकिन अभी तक इन छात्रों की छात्रवृति को स्वीकृत नही किया गया है, जिसके कारण मनरेगा मजदूरों को और भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा प्रदेश सरकार द्वारा लॉकडान के समय पंजीकृत मजदूरों को दो हजार, दो हजार रुपये की राशि की आर्थिक तौर पर मदद करने की घोषणा की थी। लेकिन एक साल बीत जाने उपरांत अभी तक सैंकड़ों मनरेगा मजदूरों के खाते में अभी तक पैसा नही आया है, जो कि अपने आप में शर्मनाक बात है।

उन्होंने कहा, यहां तक विभाग द्वारा सैंकड़ों मनरेगा मजदूरों के लिए सोलर लैंप, साईकलें, इडेंक्स चुल्हे व अन्य प्रकार की चीजें स्वीकृत हो गयी है। लेकिन विभाग ने स्वीकृत करवा दी है, लेकिन एक साल बीत जाने उपरांत भी अभी तक इन चीजों का वितरण नही किया है। जिस कारण मनरेगा मजदूरों में व्यापक रोष है। उन्होंनें विभाग के प्रधान सचिव से आग्रह किया है कि मनरेगा मजदूरों के हितों को देखते हुए विभाग के निचले तबके की लच्चर व्यवस्था को सुधारे। साथ मे विभाग से उपरोक्त मांगों को जल्द ही पूरा करने की मांग की है। उन्होंने विभाग की उनकी बातों पर गौर नही करती है तो वह हजारों मनरेगा मजदुरों सहित विभाग के खिलाफ उतरने पर मजबूर होगें जिसकी जिम्मेवारी विभाग की होगी।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!