हिमाचल आने से पहले जान ले धरातल की स्थिति; पर्यटकों के लिए चेतावनी जारी

Read Time:4 Minute, 14 Second

हिमाचल में लगातार भारी बरसात के कारण कई सड़कें बंद हो चुकी हैं। कुल्लू जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मनाली में पर्यटकों की बढ़ती भीड़ के बीच जिला उपायुक्त ने भी सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए हैं। मंडी-पठानकोट मार्ग भी कई जगह भूस्खलन के कारण बंद है। मौसम विभाग ने मंगलवार को भी भारी बारिश की आशंका जताई है।

मनाली प्रशासन ने पर्यटकों को मौसम के हालात देखकर ही रोहतांग दर्रे की ओर जाने की सलाह दी है। जबकि लाहुल स्पीति प्रशासन भी समय समय पर इंटरनेट मीडिया में सड़कों की जानकारी देकर पर्यटकों को हालात देखकर ही सफर करने की सलाह दे रहा है। कुल्लू के उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने पर्यटकों व स्थानीय लोगों को हालात देखकर ही सफर करने की सलाह दी।

उन्होंने पर्यटकों से लोगों को नदी-नालों के किनारे न जाने की अपील की है।

उधर, सरचू के समीप ट्रक $फंसने से मनाली लेह मार्ग 10 घंटे अबरुद्ध रहा। लेह की ओर से आ रहे वाहनों को लाहुल स्पीति पुलिस ने सरचू व मनाली से लेह जा रहे वाहनों को दारचा में रोक दिया था जबकि कुछ एक वाहन दारचा व सरचू के बीच भी फंस गए थे। बीआरओ ने दोपहर बाद तीन बजे ट्रक को हटाकर सड़क बहाल की। तीन बजे के बाद सभी वाहन बारालाचा दर्रे के आर पार हो सके। लाहुल घाटी में भी सुबह से बारिश का क्रम जारी है जिससे मनाली लेह, मनाली काजा, मनाली ङ्क्षशकुला पददुम व मनाली किलाड़ मार्ग पर सफर जोखिम भरा हो गया है। लाहुल स्पीति के एसपी मानव वर्मा ने पर्यटकों से आग्रह किया कि मौसम के हालात व सही जानकारी जुटाकर ही सफर पर निकलें।

————–

बारिश ने रोकी दिल्ली-भुंतर हवाई उड़ान

भारी बरसात ने सोमवार को दिल्ली से कुल्लू-मनाली स्थित भुंतर एयरपोर्ट के लिए आ रही एयर इंडिया की फ्लाइट की राह रोक दी जिस कारण एयर इंडिया का 70 सीटर एटीआर-72 सीटर हवाई जहाज दिल्ली से उड़ान नहीं भर पाया। इसके चलते दिल्ली से कुल्लू-मनाली घूमने आने वाले करीब 42 जबकि कुल्लू से दिल्ली जाने वाले 20 यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। कांगड़ा के गगल स्थित एयरपोर्ट पर हवाई यातायात सामन्य रहा जबकि पठानकोट- जोगेंद्रनगर रेलमार्ग पर भूस्खलन से नुकसान पहुंचा है।

—————–

बारिश से 382 सड़कें बाधित, चंबा में एक की मौत, दो लापता

हिमाचल में रविवार रात से हो रही मूसलधार बारिश सोमवार को भी जारी रही। इससे प्रदेश में 382 सड़कें बाधित हुई हैं। चंबा-भरमौर एनएच पर बलोगी में सोमवार सुबह एक कार भूस्खलन की चपेट में आकर रावी में समा गई, जिस कारण उसमें सवार मां की मौत हो गई। जबकि पिता-पुत्र लापता हो गए हैं। लापता को खोजने के लिए सर्च अभियान छेड़ा गया है। तीनों स्थानीय निवासी हैं।

हिमाचल में अभी तक लोक निर्माण विभाग को बरसात के कारण पिछले महीने से 162 करोड़ का नुकसान हुआ है। सड़क बहाल करने के कार्य में 352 मशीनें तैनात की हैं।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!