लालकिले पर झंडा फहराने के जुगराज को खास तौर पर लगाया गया था दिल्ली,

गणतंत्र दिवस पर लालकिला के प्राचीर पर चढ़कर केसरिया झंडा फहराने वाले आरोपित जुगराज सिंह को पकड़ना दिल्ली पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है। एक सप्ताह से दिल्ली पुलिस की कई टीमें पंजाब के अलावा कई राज्यों में जुगराज की तलाश में खाक छान रही है लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल रही है। 26 जनवरी की रात ही घर में ताला जड़ जुगराज समेत उसके परिवार के सभी सदस्य तरन तारन जिला अंतर्गत वान तारा सिंह गांव से फरार हैं। सभी के मोबाइल फोन बंद आ रहे हैं। जुगराज को गुरुद्वारे के गुंबदों व खंभों पर चढ़ने में महारत हासिल है इसलिए उसे खासतौर पर झंझा फहराने के लिए दिल्ली बुलाया गया था।

पुलिस के मुताबिक जुगराज पंजाब के वान तारा सिंह गांव का रहने वाला है। उस गांव में छह गुरुद्वारे हैं। उक्त सभी गुरुद्वारे के गुंबदों व खंभों पर चढ़कर जुगराज ही झंडा फहराने का काम करता है। इसके पिता गांव में खेती करते हैं। जुगराज, पिता को खेती में हाथ बंटाता है। कुछ साल पहले वह नौकरी की तलाश में बेंगलुरू गया था लेकिन जल्द ही नौकरी छोड़ वापस गांव आ गया था। गुरुद्वारे के गुंबदों व खंभों पर चढ़कर झंडा फहराने व साफ सफाई करने के लिए उसे पैसे मिलते थे।

पुलिस को जानकारी मिली है कि लालकिले के प्राचीर पर झंडा फहराने की साजिश सिंघु, टिकरी व गाजीपुर बार्डर पर बैठे किसानों ने काफी पहले रची थी। उसी के तहत 25 जनवरी को जुगराज सिंह को विशेष तौर पर गांव से दिल्ली बुलाया गया। उसे वान तारा सिंह से दिल्ली लाने के लिए गाड़ी भेजी गई थी। इतना ही नहीं पुलिस को यह भी जानकारी मिली है खंभे पर चढ़कर झंडा फहराने के लिए जुगराज को पांच लाख से अधिक रकम दी गई थी। पुलिस उक्त जानकारी को और विकसित करने में जुटी हुई है। झंडा फहराने के जुगराज के करीब ढाई मिनट का वीडियो वायरल होने पर जुगराज के पिता बलदेव सिंह व दादा महल सिंह ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उसके इस तरह के कृत्य की जमकर तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि जुगराज ने सिख पंथ के लिए गर्व का काम किया है।

घटना के बाद से जुगराज व उसके परिवार के सभी सदस्य घर में ताला जड़ फरार हैं। दिल्ली पुलिस, पंजाब पुलिस की मदद से उन्हें ढ़ढने में लगी हुई है। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि जुगराज को शरण देने के जुर्म में उसके परिवार के सभी सदस्यों को भी आरोपित बनाया जाएगा। पहले पुलिस जुगराज को ही गिरफ्तार करेगी। बाद में शरण देने के आरोप में परिजनों को भी गिरफ्तार किया जाएगा। जुगराज को दबोचने के लिए दिल्ली पुलिस की एक टीम कई दिनों से लुधियाना में है।

लालकिले पर केसरिया झंडा फहराने के मामले में दिल्ली पुलिस के रडार पर अभी पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू व पंजाब के गैंगस्टर लखवीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना व जुगराज सिंह तीन प्रमुख आरोपित है। जुगराज ने खंभे पर चढ़कर झंडा फहराया था। दीप व लक्खा ने उपद्रवियों का नेतृत्व किया था। लिहाजा इन तीनों पर पुलिस आयुक्त ने इनाम रखने का निर्णय किया है। जल्द ही इनपर इनाम की घोषणा की जाएगी।

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!