पश्चिम बंगाल में चुनावी नतीजों के बाद लगातार हिंसा की खबरें सामने आ रही हैं। बंगाल में मतगणना के बाद अब तक हिंसा में 9 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। भारतीय जनता पार्टी ने दावा किया है कि टीएमसी के लोग भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले कर रहे हैं।

बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के प्रभारी और वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि तृणमूल कांग्रेस के गुंडे भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले कर रहे हैं। विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता ममता बनर्जी की ओर से प्रायोजित हिंसा के पीड़ित हैं और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा मंगलवार को पश्चिम बंगाल का दौरा कर सकते हैं। इसके साथ ही विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल चुनाव के नतीजे भाजपा के लिए झटका नहीं हैं क्योंकि हमें अभूतपूर्व लाभ मिला है, तृणमूल कांग्रेस की सहायता करने के लिए वाम-कांग्रेस ने चुनाव मैदान छोड़ा।

भाजपा ने जानकारी दी है कि नड्डा चार मई को दो दिवसीय बंगाल दौरे पर जाएंगे। इस दौरान वह हिंसा प्रभावित पार्टी कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात करेंगे। पार्टी ने कहा है कि बंगाल में चुनाव परिणाम आने के बाद पूरे राज्य में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा की जा रही हिंसा की घटनाओं के खिलाफ पांच मई को राष्ट्रव्यापी धरना देगी। यह धरना प्रदर्शन पार्टी के सभी संगठनात्मक मंडलों में सभी कोविड प्रोटोकॉल्स का पालन करते हुए आयोजित किया जाएगा।

विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की जीत के बाद यहां हिंसा की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं। उन्होंने दावा किया कि तृणमूल की जीत के बाद से करीब 700 गांवों में हिंसा हुई है, महिलाओं से दुष्कर्म की घटनाएं हुई हैं और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीरभूम में भाजपा की दो महिला कार्यकर्ताओं से दुष्कर्म किया गया। उन्होंने कहा कि एक विशेष वर्ग के लोगों ने पूरे राज्य में अराजकता का माहौल बना दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति को भारत और पाकिस्तान बंटवारे के समय रही होगी।

error: Content is protected !!