कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए झारखंड में आज से 29 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान हो गया है। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मंगलवार को यह ऐलान करते हुए कहा है कि 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक लॉकडाउन लागू रहेगा। इसे ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह’ का नाम दिया जाएगा। इस समय झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए इसकी चेन को तोड़ना आवश्यक है। इसी बात पर ध्यान देते हुए निर्णय लिया गया है कि 22 अप्रैल सुबह 6 बजे से 29 अप्रैल के 6 बजे तक ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह’ का सभी के द्वारा अनुपालन किया जाएगा। ऐसा करने से कोविड-19 की चेन को तोड़ कर इस पर नियंत्रण किया जा सकेगा।

राज्य में किराना दुकान खुली रहेंगी, आवश्यक सेवाएं भी बहाल रहेंगी।
होटल में बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी, लेकिन होटल से घरों तक होम डिलीवरी की जा सकेगी। धार्मिक स्थल खुले रहेंगे परन्तु श्रद्धालुओं की उपस्थिति पर प्रतिबंधित रहेगी। राज्य में पशु चारा की ढुलाई और आवागमन पर रोक नहीं लगाई गई है। आम आदमी को पुलिस रोकेगी तो सड़क पर निकलने का बाजिव कारण बताना पड़ेगा।
आपको सब्जी खरीदनी हो, सामान पहुंचाना हो तो कारण बताए और परिचय दिखाइए तभी आगे बढ़ सकेंगे। अगर आप दवा खरीदने निकले हैं, तो डॉक्टर का पर्चा दिखाइए। राज्य में फल-फूल और सब्जियां बिकती रहेंगी। गिफ्ट और कपड़ा की दुकानें और सिनेमा हॉल आदि बंद कर दिए गए हैं। कोई भी व्यक्ति अनुमति प्राप्त कार्यों को छोड़कर अपने घर से बाहर नहीं निकलेगा। पूरे राज्य में धारा-144 लागू की गई है। एक साथ पांच से अधिक आदमी दिखे तो उन पर कार्रवाई होगी।

error: Content is protected !!