Right News

We Know, You Deserve the Truth…

जयराम का भरोसा- प्रदेश को मिलेगी 30 मीट्रिक टन ऑक्सीजन, टांडा में 20 और वेंटिलेटर होंगे उपलब्ध

हिमाचल प्रदेश सरकार ने होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों को संजीवनी किट देने की तैयारी कर ली है। 5 हजार किट तैयार करवा ली गई हैं। बुधवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में 30 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाएगी। यह मामला केंद्र सरकार के सामने रखा गया था। वहां से स्वीकृति प्रदान की गई है। इससे पहले 15 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्रदेश को केंद्र की ओर से मिल रही थी।

मीडिया से रू-ब-रू मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि जिला कांगड़ा में कोरोना के मामलों सहित मृत्युदर भी बढ़ी है, जो चिंता का विषय है। यह मामले शादी समारोह व कई धार्मिक आयोजनों में भाग लेने के कारण भी बढ़े हैं। आगे भी शादियों का सीजन है। इसलिए शादी समारोह को कोरोना संक्रमण का कारण न बनने दें। हो सके तो शादी समारोह को टाल दें। अगर बहुत ही जरूरी है तो नियमों के तहत ही आयोजन करें।

अंतिम संस्कार कराएगी सरकार

उन्होंने कहा संक्रमितों के इलाज को लेकर पूरा ध्यान रखा जा रहा है। यह भी निर्णय लिया गया है कि जनप्रतिनिधि भी अपनी सक्रिय भूमिका शहर से लेकर गांव तक निभाएंगे। यह फैसला भी लिया है कि कोविड से मरने वालों का अंतिम संस्कार भी सरकार करवाएगी। वहीं, लकड़ी भी प्रशासन की ओर से दी जाएगी।

संजीवनी किट का शुभारंभ
मुख्‍यमंत्री ने इस अवसर पर संजीवनी किट का भी शुभारंभ किया, जो जिला कांगड़ा के होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमित व्यक्तियों को दी जाएगी। पहले चरण में पांच हजार किट तैयार की गई हैं। यह किट आज से होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को प्रशासन की ओर से दी जाएंगी। उन्होंने इस संजीवनी किट को कुछ ही घंटों में तैयार करने को लेकर उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति के प्रयासों की सराहना भी की।

तैयारियों की समीक्षा

इससे पहले मुख्यमंत्री द्वारा जिलों के अधिकारियों के साथ जिले में कोविड कार्यों व तैयारियों की समीक्षा भी की। इस दौरान मुख्‍यमंत्री ने ऑनलाइन टांडा मेडिकल कॉलेज के मरीजों से बातचीत करके उनका कुशलक्षेम जाना और उन्हें मिलने वाली चिकित्सा सुविधाओं की जानकारी भी ली। उन्होंने ऐलान किया कि टांडा मेडिकल कॉलेज को 20 और वेंटीलेटर दिए जाएंगे। अब कुल संख्या 80 हो जाएगी।

error: Content is protected !!