रामस्वरूप शर्मा की संदिग्ध मौत, कुछ दिनों से किसी बात नही कर रहे थे और सत्र में भी नही हुए थे शामिल

Read Time:2 Minute, 51 Second

हिमाचल प्रदेश के मंडी से भाजपा सांसद रामस्वरूप शर्मा की बुधवार को संदिग्ध हालत में मौत हो गई। उनका शव दिल्ली स्थित आवास पर पंखे से लटकता मिला। उनके निधन के कारण आज (बुधवार) होने वाली भाजपा संसदीय दल की बैठक रद्द कर दी गई है। उनके निधन से पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर है। वहीं मामले की जांच कर रही पुलिस टीम ने उनके कमरे को लेकर कुछ ऐसी जानकारी दी है जो हैरान करने के साथ ही सोच में डाल देती है। 

पुलिस ने बताया कि रामस्वरूप शर्मा दिल्ली में अपने कुक और पीए के साथ रहते थे और उनका परिवार मंडी में रहता है। परिवार को उनके मौत की सूचना दे दी गई है। आज सुबह जब सांसद ने बहुत खटखटाने पर भी अपने कमरे का दरवाजा नहीं खोला तो पुलिस को सूचना दी गई। जिसके बाद पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी।

पुलिस जब दरवाजे को तोड़कर अंदर दाखिल हुई तो स्तब्ध रह गई। उन्होंने पाया कि सांसद का शव फंदे से लटक रहा था और कमरा में सामान बिखरा पड़ा था। पुलिस ने सांसद के शव को नीचे उतारा फिर कमरे में जांच शुरू की तो वहां से उन्हें भारी मात्रा मेंं दवाइयां मिलीं। पुलिस को शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि रामस्वरूप शर्मा ने बीते कुछ दिनों से लोगों से बात करना बंद कर दिया था। वह मंगलवार को संसद के सत्र में भी नहीं शामिल हुए थे।

शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि सांसद रामस्वरूप लंबे समय से बीमार थे। उन्हें बीपी और शुगर की बीमारी भी थी। साथ ही उन्हें दो बार हार्ट अटैक भी आ चुका था। इन सबसे वह काफी परेशान भी रहते थे। इससे पुलिस का अनुमान है कि शायद वह अवसाद में रहे हों और उन्होंने आत्महत्या कर ली। हालांकि पुलिस अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है और कोई भी बयान देना जल्दबाजी मान रही है जब तक कि पूरी जांच न हो जाए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए आरएमएल अस्पताल में रखवा दिया है। नॉर्थ एवेन्यू थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!