एक साल और इंतजार, बिलासपुर-लेह रेललाइन के लिए, जानिए वजह

बिलासपुर : बिलासपुर-लेह रेललाइन के प्रोजेक्ट की डीपीआर तैयार न होने के कारण इस रेल लाइन के लिए एक साल और इंतजार करना पड़ सकता है। डीपीआर तैयार नहीं हो पाने के कारण बजट के लिए इस बार बजट में उक्त प्रोजेक्ट शामिल नहीं होगा। उत्तर रेलवे इस परियोजना की डीपीआर दिसंबर 2021 तक तैयार कर रक्षा मंत्रालय को सौंपेगा। इसके बाद 2022 में इसके लिए बजट की घोषणा होने की संभावना है। सामरिक और व्यापारिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण बिलासपुर-लेह रेललाइन परियोजना की डीपीआर इस साल दिसंबर में सरकार को सौंपी जाएगी। जब तक किसी परियोजना की डीपीआर तैयार नहीं होती, तब तक उसके लिए बजट नहीं जारी होता है। इसके चलते इस परियोजना के बजट के लिए देश को अगले वर्ष तक का इंतजार करना होगा। उत्तर रेलवे की टीम इस प्रोजेक्ट की डीपीआर बनाने में जुटी है। तुर्की के विशेषज्ञ भी इस लाइन का सर्वे कर चुके हैं। इस परियोजना को पूरा करने के लिए पहले 83.5 हजार करोड़ रुपये का एस्टीमेट था, लेकिन गत वर्ष रेलवे की टीम के सर्वे के बाद इसकी लागत राशि 15.5 हजार करोड़ रुपये घट गई। इससे अब इसका एस्टीमेट 68 हजार करोड़ रुपये है। उधर, उत्तर रेलवे के चीफ इंजीनियर हरपाल सिंह ने बताया कि किसी भी प्रोजेक्ट को बजट में तब डाला जाता है, जब उसकी डीपीआर तैयार हो। इस प्रोजेक्ट की डीपीआर दिसंबर 2021 में तैयार होगी। फिर इसे रक्षा मंत्रालय को सौंपा जाएगा। इसके बाद बजट जारी किया जाएगा। फरवरी 21 से 21 जून तक तुर्की के एलाइनमेंट, जियोलॉजी, स्ट्रक्चर्स, टनल आदि से जुड़े एक्सपर्ट टनल, ब्रिज और अन्य ढांचे के डिजाइन पर काम करेंगे।

Other Trending News and Topics:
error: Content is protected !!