थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के साथ शनिवार सुबह आगरा पहुंचे दक्षिण कोरिया के रक्षामंत्री सुह वुक सेना के जवानों की पैराट्रूपर्स के हैरतअंगेज कारनामे देख आश्चर्यचकित रह गए। पैराशूट ब्रिगेड जवानों की 10 हजार फीट ऊंचाई से जंप लगाकर पैराशूट से सकुशल लैंडिंग देख नरवणे गदगद नजर आए। जवानों ने हवा में विभिन्न फॉर्मेशन बनाकर दक्षिण कोरियाई मेहमान और अपने जनरल को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। इससे पहले जवानों की पैराट्रूपर्स ने पैरा ड्रॉपिंग का शानदार प्रदर्शन किया। 

फ़ोटो साभार: एएनआई

दक्षिण कोरिया के रक्षामंत्री सुह वुक भारत की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं। जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के साथ सुह वुक शनिवार सुबह सेना के विमान से आगरा पहुंचे। वहां से सीधे सेना के मलपुरा स्थित ड्रॉपिंग जोन पर पहुंचे। वहां उनका स्वागत पैराशूट ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर पीके सिंह ने किया। दोनों मेहमान आगरा की पैराशूट ब्रिगेड के जवानों के हवाई करतब देखने आगरा आए थे। 

10 हजार फीट से लगाई छलांग 
पैराशूट ब्रिगेड के जांबाजों ने आईएल-76 और एनएन-32 विमानों से 10 हजार फीट की ऊंचाई से छलांग लगाकर और कुछ ही मिनटों में ड्रॉपिंग जोन पर मेहमानों के सामने सकुशल लैंडिंग करके सभी को दांतों तले अंगुलियां दबाने पर मजबूर कर दिया। जवानों ने मुकाबला फ्रीफॉल और स्टैटिक लाइन जंप का प्रदर्शन किया। सूह वूक की भारत यात्रा के उपलक्ष्य में आयोजित यह कार्यक्रम करीब आधा घंटे तक चला। 

पैरा जंपिंग भी की जवानों ने 
इस प्रदर्शन के दौरान 105 सैनिकों के साथ कुल 650 सैनिक मौजूद थे। इनमें 25 पैराट्रूपर्स भी शामिल थे। सैनिकों ने दस हजार फीट की ऊंचाई पर एक विमान से पैरा जंपिंग की। प्रदर्शन में भारतीय सेना के जवानों को बीएमपी, पैदल सेना से लड़ने वाले वाहन और टैंक ले जाते हुए भी देखा गया। इनसे कई राउंड फायर भी किए गए।

भारतीय सेना की तारीफ 
जनरल नरवणे और दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री ने जंप लगाने वाले जवानों की हौसला अफजाई भी की। कोरियाई रक्षामंत्री ने बाद में भारतीय सेना के जांबाज जवानों व अफसरों की तारीफ की। बाद में दोपहर बाद दोनों मेहमान विशेष विमान से वापस चले गए। इससे पहले दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय रक्षा बैठक पर भी चर्चा हुई।

error: Content is protected !!