राक्षसी प्रवृति के अपराधियों ने युवक का अपहरण कर डंडों से पीटा और थूक चाटने पर किया मजबूर

मध्य प्रदेश के सतना (Satna) में राक्षसी प्रवृत्ति के अपराधियों की दबंगई सामने आई है. अपराधियों ने एक युवक के साथ अमानवीय व्यवहार करते हुए उसे जमकर मारा-पीटा (Man Beaten). घटना नागौद कस्बे की है. आरोप है कि पैसों के लेन-देन को लेकर शशांक सिंह और सुजीत सिंह ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर पीड़ित संतोष पांडेय को रोक कर उसका अपहरण (Kidnap) कर लिया और कस्बे से दूर ले जाकर डंडों से उसकी पिटाई की. युवक रहम की भीख मांगता रहा और पैसा देने की बात करता रहा, लेकिन आरोपियों का दिल नहीं पसीजा और वो उसपर लगातार डंडे बरसाते रहे.

इसके बाद आरोपियों ने पीड़ित को फिल्मी स्टाइल में थूक कर चाटने को मजबूर किया. अपराधियों ने उसे इसकी शिकायत करने पर गोली मारने की धमकी दी. आरोपियों के हौसले इतने बुलंद थे कि उन्होंने अपनी दबंगई का वीडियो भी बनाया.

मिली जानकारी के मुताबिक सतना जिले के नागौद कस्बे में रैकवार निवासी संतोष पांडेय अपनी पत्नी का उपचार कराने 15 अगस्त को आया था. बीमार पत्नी को अस्पताल में एडमिट कर वो दुकान का सामान लेकर अपने गांव के लिए रवाना हुआ. लेकिन बीच रास्ते शशांक सिंह और सुजीत सिंह ने कार सामने लगाकर संतोष को रोक लिया और उसका अपहरण कर लिया. नागौद कस्बे से एक किलोमीटर दूर बल्लाधार पुल के पास ले जाकर दबंगों ने संतोष की जमकर पिटाई की और अमानवीय व्यवहार किया. आरोपी उसे डंडों से पीटते रहे और उनका एक साथी इसका वीडियो बनाता रहा. बाद में दबंगों ने इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया. उन्होंने संतोष को इसकी शिकायत करने पर जान से मारने की भी धमकी दी.

घटना के दो दिन बाद संतोष ने नागौद थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई. मगर पुलिस ने सिर्फ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की रिपोर्ट लिखी. इससे दुखी होकर वो जिला पुलिस मुख्यालय पहुंचा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ASP) से मिलकर न्याय की गुहार लगाई. उन्होंने पीड़ित की फरियाद सुनकर नागौद थाना पुलिस को ठीक से कार्रवाई करने के आदेश दिये.

बता दें कि आरोपी शशांक सिंह सपाक्स पार्टी का नेता है और वर्ष 2018 में वो सतना विधानसभा सीट से चुनाव लड़ चुका है. जबकि सुजीत सिंह उसका करीबी दोस्त है. इस घटना को लेकर एक समाज विशेष के लोगों में आक्रोश है.

error: Content is protected !!