हमें गांधी को नही छोड़ा, कहने वाला हिन्दू महासभा के नेता गिरफ्तार, सरकार को धमकाने का आरोप

कर्नाटक में हिंदू महासभा के प्रदेश सचिव धर्मेंद्र को आज गिरफ्तार कर लिया गया। धर्मेंद्र ने पिछले दिनों मैसूर में मंदिर ढहाए जाने के बाद मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई और भाजपा सरकार को धमकी दी थी। शनिवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान धर्मेंद्र ने कहा था कि अगर प्रदेश में मंदिरों को ढहाया जाना जारी रहा तो महासभा भाजपा सरकार को छोड़ेगी नहीं। 

सीएम, पूर्व सीएम और मंत्री का लिया था नाम 
प्रेस कांफ्रेंस के दौरान धर्मेंद्र ने यहां तक कह दिया था कि हिंदुओं की रक्षा के लिए हमने गांधी तक को नहीं छोड़ा। तुम लोग हमारे लिया क्या चीज हो। हम तुम्हें भी नहीं छोड़ेंगे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री बोम्मई, पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा और स्टेट मुजरई मिनिस्टर शशिकला जोले का नाम भी लिया था। धर्मेंद्र ने कहा था कि उन्हें संघ परिवार से जुड़े संगठनों पर दया आती है। अगर वो मंदिर ढहाने के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं तो उन्हें आने वाले चुनाव में भाजपा को हरा देना चाहिए। उन्हें हिंदू महासभा का साथ देना चाहिए जो हिंदुत्व की पार्टी है। 

संगठन का नाम लेकर सरकार को धमकाने का मुकदमा
पुलिस सूत्रों का कहना है कि धर्मेंद्र के खिलाफ समुचित धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। इसके अलावा महासभा के नेता राजेश पवित्रण, प्रेम, संदीप और अन्य कार्यकर्ताओं से भी पूछताछ होगी। इससे पूर्व धर्मेंद्र की टिप्पणी पर एक्शन लेते हुए हिंदू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। धर्मेंद्र के खिलाफ संगठन का नाम लेकर भाजपा सरकार की आलोचना करने का मामला दर्ज कराया गया है। वहीं हिंदू महासभा के नेता राजेश पवित्रण ने उनके खिलाफ एफआई दर्ज किए जाने पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मेरे खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है जबकि मैं उस दिन मंच पर मौजूद ही नहीं था। 

error: Content is protected !!