विवाद: वीर दास ने अमेरिका में सुनाई कविता, कहा- मैं उस देश से हूं जहां दिन में महिलाओं की पूजा और रात में गैंगरेप होता है

कमीडियन वीर दास का मानों विवादों से पुराना नाता हो। एक विवाद अभी शांत नहीं होता की वह अपने बयानों की वजह से फिर विवादों में आ जाते हैं। एक बार फिर वीर दास ने देश विरोधी बयान देकर सबकों चौंका दिया है। दरअसल अमेरिका के वॉशिंगटन डीसी में जॉन एफ कैनेडी सेंटर फॉर द परफॉर्मिंग आर्ट्स में अपने परफॉर्मेंस का वीडियो वीर दास ने अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किया है। छह मिनट के वीडियो में दास ने देश के कथित तौर पर देश के दोहरे चरित्र के बारे में जिक्र किया है। जिसके बाद से ही उनके कहे बयान पर विवाद हो रहा है और उनके खिलाफ मुंबई में एफआईआर दर्ज कराई गई है। जानिए क्या है पूरा मामला।

वीर दास की पढ़ी गई कविता के कुछ अंश
मैं उस भारत से आता हूं.. जहां दिन में औरतों की पूजा और रात में गैंगरेप होता है।
मैं उस भारत से आता हूं.. जहां की एक आबादी की उम्र 30 साल से छोटी है लेकिन फिर भी 75 साल के लीडर्स के 150 साल पुराने आइडियाज़ को सुनती है।
मैं उस भारत से आता हूं.. जहां वेजेटेरियन होने में हम गर्व महसूस करते हैं लेकिन हम उन किसानों को कुचल देते हैं, जो सब्ज़ियां उगाते हैं। 
मैं उस भारत से आता हूं.. जहां बच्चे मास्क लगाते हैं और लीडर्स बिना मास्क लगाए गले मिलते हैं।

एफआईआर हुई दर्ज
बॉम्बे हाई कोर्ट के वकील आशुतोष जे दुबे और बीजेपी महाराष्ट्र के कानूनी सलाहकार ने वीर दास के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही शिकायत की कॉपी ट्विटर पर शेयर की है। उन्होंने एफआईआर की कॉपी शेयर करने के साथ लिखा है कि ‘मैंने वीर दास के खिलाफ मुंबई पुलिस में अमेरिका में भारत की छवि को खराब करने को लेकर शिकायत दर्ज करवाई है। वीर दास ने जान बूझकर भारत, भारतीय महिलाओं और भारत के पीएम के खिलाफ उकसाने वाले और अपमानजनक बयान दिए हैं।’

वीर दास ने दी सफाई
मंगलवार को विवाद बढ़ता देख वीर दास ने एक बयान जारी किया है। उनके मुताबिक ‘आई कम फ्रॉम टू इंडियाज’ वीडियो में उनका इरादा देश का अपमान करने का नहीं था। उनका इरादा बस ये कहने का था कि देश अपने तमाम मुद्दों के बाद भी ‘महान’ है और हमें अपनी महानता को याद रखना चाहिए। 

ट्रोल्स के निशाने पर
वीर दास पहले भी अलग अलग बयानों की वजह से विवादों में रह चुके हैं। लेकिन इस बार लोग उन्हें माफ नहीं करना चाहते। सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा उनकी कविता को सुनकर भड़क रहा है। लोगों का कहना है कि अमेरिका में अपने ही देश का मजाक बनाकर वाहवाही लूटने वाले वीरदास को माफ नहीं करना चाहिए। खासतौर पर उनकी कविता की लाइन ‘मैं उस भारत से आता हूं.. जहां दिन में औरतों की पूजा होती है और रात में गैंगरेप’ पर देशभर में विरोध हो रहा है। वहीं फिलहाल वीर दास अमेरिका में ही हैं।

Please Share this news:
error: Content is protected !!