बंदूक के साथ वीडियो बनाना पड़ा भारी, गोली लगने से नाबालिग छात्रा की मौत

उत्तर प्रदेश के कासगंज में 9वीं कक्षा की छात्रा की उसकी सहेली के घर पर गोली लगने से मौत हो गई. घटना में पुलिस को मिली सीसीटीवी, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और घटना की अकेली प्रत्यक्षदर्शी मृत छात्रा की तीन अन्य सहेलियों से पूछताछ के बाद पुलिस इसे लापरवाही से लाइसेंसी बंदूक घर में रखने और वीडियो के शौक के कारण हुई घटना मान रही है.

घर में घुसते ही 2 मिनट में भागती निकलीं लड़कियां

दरअसल, 2 दिसंबर को कासगंज के दुर्गा कॉलोनी की रहने वाली नौवीं की छात्रा स्कूल में परीक्षा देकर शहर कोतवाली के मोहल्ला कोर्ट में अपनी तीन अन्य दोस्तों के साथ सहेली परी के घर गई थी. गली में लगे सीसीटीवी में चारों सहेलियों का फुटेज सामने आया है. दिन में 1:06 मिनट पर चारों लड़कियां घर के अंदर जाती है और करीब 2 मिनट के बाद, 1:07 मिनट 55 सेकंड पर तीन लड़कियां घर के बाहर भागती हुई नजर आ रही हैं. दरअसल, महज 2 मिनट के अंदर घर की पहली मंजिल पर नौवीं की छात्रा को गोली लगती है और उसकी मौत हो जाती है.

राइफल को फॉरेंसिक जांच

घटना की सूचना पुलिस को मिलते ही पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया और घर के अंदर रखी लाइसेंसी 315 बोर की राइफल को फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया. सवाल उठने लगे कि आखिर 2 मिनट के अंदर घर के अंदर ऐसा क्या हुआ. 9वीं की छात्रा अपनी सहेली के घर में जाती है. उसको गोली लगती है और मौत हो जाती है.

वीडियो के चक्कर में लड़की के जबड़े में घुसी गोली

दरअसल, ये पूरा मामला टिकटॉक की तरह वीडियो बनाने के शौक का सामने आया है. एसपी कासगंज रोहन बोत्रे ने आजतक को बातचीत में बताया कि जिस सहेली परी के घर छात्रा गई थी उसके पिता के नाम पर 315 बोर की लाइसेंसी राइफल है. चारों लड़कियां घर के उस कमरे में जाती हैं. यहां पर यह लाइसेंसी बंदूक रखी थी. जैसे ही वीडियो बनाने के लिए राइफल उठाई जाती है, पहले से लोड रखी राइफल वीडियो बनने से पहले ही चल गई और गोली लड़की के जबड़े से घुसते हुए सिर के पार हो गई. गोली चलने की आवाज सुनते ही परी के पिता ने बंदूक से कारतूस निकाल कर फेंक दिया और मौके से फरार हो गया.

भाई ने लगाया रेप के बाद हत्या का आरोप

हालांकि, मृत छात्रा के भाई ने रेप के बाद हत्या की आशंका जताई है, लेकिन पुलिस का कहना है 2 मिनट के अंदर तीन अन्य छात्राओं की मौजूदगी में रेप का प्रयास नामुमकिन है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और घटना की अकेली प्रत्यक्षदर्शी लड़कियां भी इस आरोप को खारिज कर रहे हैं. यह पूरा मामला लापरवाही से लाइसेंसी बंदूक रखने और बंदूक के साथ सोशल मीडिया का वीडियो बनाने का सामने आया है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!