Aligarh News: उच्च जाति के गुंडे ने मजदूरी के पैसे नही दिए, जातिसूचक शब्दों से किया अपमानित

अलीगढ़। इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव रामपुर विदिरिका निवासी अनुसूचित जाति की एक महिला ने गांव के ही एक शिक्षक के खिलाफ बंधुआ बनाकर मजदूरी कराने तथा मजदूरी की मांग करने पर उत्पीड़न करने संबंधी मुकदमा कोर्ट के आदेश से दर्ज किया कराया है।

शिक्षक के यहां पति पत्‍नी करते थे मजदूरी

गांव विदिरिका निवासी सरोज देवी पत्नी महीपाल सिंह का आरोप है कि दोनों पति-पत्नी ग्राम निवासी शिक्षक मंजीत सिंह के यहां पर बंधुआ मजदूरी कर रहे थे। वर्ष 2015 में होली के बाद मजदूरी देना बंद कर दिया है। फिर भी यह भरोसा देने पर कि बाद में पूरा हिसाब कर दूंगा काम करते रहे। 23 फरबरी 2019 को बिजली की केबिल को सही करने की मना करने पर उसके पति के ऊपर केबिल डाल दी जिससे बिजली करेंट से वह 80 प्रतिशत जल गए। आरोप है कि इलाज के तथा मजदूरी के करीब 21 लाख तीस हजार रुपये 15 जून 2021 को मांगे तो उक्त शिक्षक ने रुपये तो दिए नहीं उल्टे जातिसूचक शब्दों से अपमानित करते हुए धक्का देकर भगा दिया। इस घटना के संबंध में कोतवाली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की तो कोर्ट ने उक्त शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश देने पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस प्रकरण की विवेचना पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा की जाएगी।

पुलिस को घर बताया तो घर में घुसकर पीटा

इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव सतलोनी खुर्द निवासी निशा देवी पत्नी महावीर सिंह का कहना है कि 29 अगस्त को प्रधान द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र पर जांच करने गांव पहुंची पुलिस ने उसके पति से बनवारी लाल का घर पूछा था तो उन्होंने घर बता दिया। इसी बात को लेकर सुबह आठ बजे बनवारीलाल व इसके बेटे इंदल, राजकुमार, महेश हमलावर होते हुए घर में घुस आए। आरोपितों ने दंपति के साथ मारपीट की। ग्रामीणों के पहुंचने पर जान से मारने की धमकी देकर चले गए। घटना के संबंध में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है।

error: Content is protected !!