रिपोर्ट दर्ज कराने गए लोगों पर आरोप लगा कर भगाया, अब मृत मिले लापता दो युवक

यूपी के जालौन जिले में दोहरे हत्याकांड से सनसनी फैल गई। मोहल्ला कांशीराम कॉलोनी निवासी राशिद (25) पुत्र बसीर व उसका मामा इंदिरा नगर निवासी नसीम (22) पुत्र शेरखान बीती 29 अप्रैल को संदिग्ध हालात में लापता हो गए थे। दोनों कोंच बस स्टैंड पर चूड़ी की दुकान पर बैठते थे।

घटना वाले दिन ही नसीम की मां कपूरी एवं राशिद की मां भूरी ने परिजनों के साथ कोतवाली पहुंचकर अपने बेटों के लापता होने के संबंध में तहरीर दी थी। तहरीर में इंदिरा नगर निवासी रफीक एवं अनीश को नामजद करते हुए आरोप लगाया कि उन लोगों ने उनके बेटों के उठा ले जाने की धमकी दी थी पर पुलिस ने तहरीर को गंभीरता से नहीं लिया।

उल्टा युवकों के लापता होने पर स्वजनों पर ही आरोप लगाते हुए उन्हें दुत्कार कर कोतवाली से भगा दिया। इसके बाद राशिद व नसीम के स्वजन कोतवाली के चक्कर लगाते रहे पर पुलिस नहीं पसीजी। जिसके चलते परेशान परिवार वालों ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर मामले की शिकायत की जिसके बाद पुलिस एक्टिव हुई और आरोपियों से पूछताछ की तो दोनों की हत्या होने का पता चला।

पुलिस सोमवार रात को सिरसाकलार थाना क्षेत्र के जंगल में पहुंची तो वहां मामा-भांजे के जले हुए शव पड़े मिले। दो शव मिले जिससे उनको पहचान पाना मुश्किल था। जिस पर पुलिस ने मौके पर लापता मामा-भांजे के परिजनों को बुलाया तब जूतों व कड़े से उनकी पहचान चार दिन से लापता नसीम व राशिद के रूप में हुई।

कपूरी व रूबी का कहना है कि पुलिस ने उनके बेटों के अगवा करने वालों को पहले शिकायत मिलते ही पकड़ लिया होता तो उनकी जान बच गई होती। सीओ सिटी संतोष कुमार का कहना है कि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए तहकीकात की जा रही है। जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

error: Content is protected !!