“2 रुपये में ट्वीट” के वायरल ऑडियो मामले में दो गिरफ्तार, दोनों सूचना विभाग के पूर्व कर्मचारी

उत्तर प्रदेश सूचना विभाग की सोशल मीडिया टीम में पार्थ श्रीवास्तव की मौत का बवाल अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि अब पैसे के एवज में ट्वीट मामले ने तूल पकड़ लिया है. कानपुर पुलिस ने 2 रुपये में ट्वीट के पूरे फर्जीवाड़े में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए दोनों ही आरोपी सूचना विभाग की मीडिया सेल के पूर्व कर्मचारी निकले.

बीते दिनों सोशल मीडिया पर सीएम योगी आदित्यनाथ के पक्ष में ट्वीट करने पर ₹2 मिलने का एक तथाकथित ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. इस मामले में कानपुर पुलिस ने अतुल कुशवाहा की तरफ से एफआईआर दर्ज करवाई कि उसके नाम पर एक फर्जी ऑडियो तैयार कर यह साजिश रची गई.

कानपुर पुलिस ने इस मामले में तहकीकात की तो 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया.

गिरफ्तार किए गए हिमांशु सैनी और आशीष पांडे लखनऊ के रहने वाले हैं.

व्यापारिक जलन से साजिश!

आशीष पांडे सूचना विभाग में सोशल मीडिया का काम देख रही बेसिल कंपनी से जुड़ा था, तो वहीं दूसरी तरफ हिमांशु सैनी पूर्व कर्मचारी निकला. पुलिस की माने तो गिरफ्तार हिमांशु सैनी ने बिहार के 15 वर्षीय सोशल मीडिया पर सक्रिय एक लड़के से बात की और यह बातचीत अतुल कुशवाहा के नाम पर सोशल मीडिया में वायरल कर दी.

कानपुर पुलिस कमिश्नर की माने तो आशीष पांडे और हिमांशु सैनी की तमाम सेलिब्रिटी और नेताओं के ट्विटर चलाने वाले अतुल कुशवाहा से व्यापारिक जलन थी जिसके चलते यह पूरी साजिश रची गई.

फिलहाल कानपुर पुलिस ने हिमांशु सैनी और आशीष पांडे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. बता दें कि आशीष पांडे की पत्नी प्रीति वर्मा वर्तमान में उत्तर प्रदेश बाल आयोग की सदस्य हैं. पति की इस करतूत से पत्नी की कुर्सी पर भी खतरा मंडराने लगा है. जल्द प्रीति वर्मा की बाल आयोग से सदस्यता भी जा सकती है.


Please Share this news:
error: Content is protected !!