महाराष्ट्र में शुद्ध सात किलो यूरेनियम के साथ दो गिरफ्तार, परमाणु बम्ब बनाने में होता है इस्तेमाल

महाराष्ट्र एटीएस की टीम ने यूरेनियम रखने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों के पास से 7 किलो यूरेनियम जब्त किया गया है। एटीएम ने पहले तो यूरेनियम रखने वालों पर शिकंजा कसा उसके बाद उन लोगों की भी तलाश की जो इसे कथित तौर पर खरीदने की कोशिश कर रहे थे। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करीब 21 करोड़ रुपये बताई जा रही है।

यूरेनियम एक दुर्लभ तत्व माना जाता है। यह बहुत ज्यादा रेडियोएक्टिव होता है। इसका उपयोग आमतौर पर परमाणु बम बनाने के लिए किया जाता है। महाराष्ट्र एटीएस की टीम ने सबसे पहले इसको टेस्ट के लिए रिसर्च लैब में भेजा। जिसके बाद इस बात का खुलासा हो सका कि जब्त की गई सामग्री यूरेनियम है। जो कि बिल्कुल शुद्ध है।

7 किलो यूरेनियम के साथ 2 गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक यूरेनियम की शुद्धता की जांच के लिए इसे एटीएम ने एक प्राइवेट लैब में टेस्ट के लिए भेजा था। जांच में पता चला कि यह यूरेनियम है जो कि पूरी तरह से शुद्ध है। इसके साथ ही एटीएम की टीम अब प्राइवेट लैब की ही मदद से अपराधियों के बारे में जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है। इसके साथ ही एटीएस की टीम ये भी पता लगाने की कोशिश में जुटी हुई है कि आरोपियों ने इतनी बड़ी मात्रा में यूरेनियम आखिर खरीदा कहां से।

परमाणु विस्फोटक में होता है इस्तेमाल

यूरेनियम एक सफेद रंग की चमकदार धातु होती है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल परमाणु विस्फोटक बनाने के लिए किया जाता है। यह काफी रेडियोएक्टिव होता है। इसकी मदद से नाभिकीय रिएक्टर बनाने के साथ ही सैन्य हथियारों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। वही परमाणु ऊर्जा में इसका इस्तेमाल बिजली बनाने के लिए भी किया जाता है। 1 किलो यूरेनियम से 24 हजार मेगावॉट तक बिजली बनाई जा सकती है।

error: Content is protected !!