आंदोलन के दौरान 700 किसानों की मौत के लिए टिकैत जिम्मेदार: पूर्व सांसद

बलिया: भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद हरिनारायण राजभर ने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान हुई 700 किसानों की मौत का दोषी करार देते हुए उनके खिलाफ मामला दर्ज कर सम्पत्ति जब्त करने की मांग की है।

उत्तर प्रदेश की कल्याण सिंह और राजनाथ सिंह सरकार में राज्य मंत्री रह चुके राजभर ने रविवार को एक वीडियो जारी कर भाकियू (भारतीय किसान यूनियन) नेता टिकैत पर निशाना साधा।

राजभर ने टिकैत व आंदोलनकारी किसान नेताओं को उग्रवादी करार दिया और कहा कि भाकियू नेता टिकैत नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान हुई 700 किसानों की मौत के दोषी हैं। टिकैत के विरुद्ध मामला दर्ज कर इनकी सम्पत्ति को जब्त करने की मांग की। उन्होंने कहा कि टिकैत की जब्त सम्पत्ति से मृतक किसानों के परिवारों को मुआवजा दिया जाना चाहिए। प्रदेश की घोसी सीट से सांसद रह चुके राजभर ने कहा कि तीनों नये कृषि कानून वापस होने से किसानों का बहुत बड़ा नुकसान और चंद ‘खालिस्तानी गुंडों’ को लाभ हुआ है। किसान नेता सरकार के लचीले रुख का नाजायज फायदा उठा रहे हैं। आंदोलनकारी लोग किसान नहीं हैं।

उन्होंने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर पर आरोप लगाया कि सियासत में प्रवेश करने के पहले वह बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के शूटर थे। राजभर अपने अपराधों को छिपाने के लिए राजनेता का चोला धारण कर लिये हैं। उन्होंने दावा किया है कि ओम प्रकाश राजभर बियार जाति के हैं न कि राजभर बिरादरी के।

Please Share this news:
error: Content is protected !!