यह “राम राज्य” नही, “किलिंग राज्य” है, लखीमपुर हिंसा पर ममता ने भाजपा पर साधा निशाना

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यूपी के लखीमपुर खीरी में किसानों समेत आठ लोगों की मौत को लेकर बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बीजेपी यूपी में राम राज्य की बात करती है लेकिन यह राम राज्य नहीं है किलिंग राज्य है।

सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि यह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। इस घटना की निंदा करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। घटना की निंदा करते हुए बनर्जी ने कहा कि भाजपा सरकार लोकतंत्र में विश्वास नहीं करती है और केवल निरंकुशता चाहती है।

घटना को लेकर विपक्ष की कई पार्टियों ने कड़ा विरोध जताया है। प्रियंका गांधी समेत कई नेता लखीमपुर खीरी जा रहे थे लेकिन पुलिस ने उनको बीच में ही रोक दिया और हिरासत में ले लिया। वहीं, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को लखनऊ में उनके विक्रमादित्य मार्ग स्थित आवास के बाहर धरने के बाद हिरासत में लिया गया था, क्योंकि उन्हें लखीमपुर जाने की अनुमति नहीं थी।

यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई। आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ियां चढ़ा दी। इसके बाद हिंसा भड़की। मामले में पुलिस ने हंगामा मचने पर अजय मिश्रा के बेटे के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

मामले में किसानों से बातचीत के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने घोषणा की कि हाई कोर्ट के एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश लखीमपुर खीरी हिंसा की जांच करेंगे और घटना में मारे गए चार किसानों के परिवारों को 45-45 लाख रुपये के मुआवजे के साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी दी जाएगी। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि इस मामले में दोषी कोई भी व्यक्ति बख्शा नहीं जाएगा और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होगी।

error: Content is protected !!