श्रीखंड यात्रा पर इस बार भी प्रशासन ने लगाई रोक, नही होंगे भक्तों को भोलेनाथ के दर्शन

Shrikhand News: कुल्लू जिला के आनी उपमंडल में निरमंड क्षेत्र के अंतर्गत स्थित उत्तर भारत की सबसे कठिनतम धार्मिक यात्रा श्रीखंड पर प्रशासन ने इस वर्ष भी कोरोना महामारी के दृष्टिगत रोक लगा दी है। उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट के अधीन 15 से 25 जुलाई तक चलने वाली श्रीखंड यात्रा को कोरोना महामारी के मद्देनजर इस वर्ष भी रोका गया है। उन्होंने कहा कि इस यात्रा पर समूचे भारतवर्ष से हर वर्ष हजारों शिव भक्त महादेव के दर्शनों को निकलते हैं। गत वर्ष कोरोना महामारी के चलते इस धार्मिक यात्रा पर पूर्णत: रोक लगाई गई थी, जो इस वर्ष भी महामारी से बचाव के दृष्टिगत बंद रहेगी।

उपायुक्त ने कहा कि प्रशासन फिलहाल यात्रा को लेकर किसी भी प्रकार का जोखिम नहीं लेना चाहता।

क्योंकि कोरोना महामारी का प्रकोप अभी तक पूरी तरह से थमा नहीं है, इसलिए इस संबंध में सरकार द्वारा जारी आगामी निर्देशों तक श्रीखंड यात्रा पर पूर्णतय: रोक रहेगी। वहीं, इस संबंध में श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एवं एसडीएम आनी चेत सिंह ने बताया कि आगामी 15 जुलाई से शुरू होने वाली श्रीखंड कैलाश यात्रा पर इस वर्ष भी उपायुक्त कुल्लू के निर्देशानुसार रोक रहेगी, जिसके अंतर्गत यात्रा पर किसी भी भक्त को जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी जिसके लिए प्रशासन ने यात्रा के बेस कैंप सिंहगाड में पुलिस बल तैनात कर दिया है। एसडीएम ने कहा कि बाबजूद इसके यदि कोई यात्री सरकारी आदेशों की अवहेलना कर, ज़बरन यात्रा पर निकलता है, तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,137 other subscribers

error: Content is protected !!