बरेली पुलिस से चीख चीख कर कहता रहा पति, पत्नी से हुआ सामुहिक दुष्कर्म, जानिए पुलिस ने क्या किया

Gang Molestation With Woman in Bareilly : वारदात के 48 घंटे से अधिक का वक्त बीत गया। पति चीख-चीखकर कहता रहा कि पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ है। बावजूद पहले दर्ज मुकदमे में खेल किया गया। उसके बाद वारदात के दूसरे दिन भी दुष्कर्म के आरोप में महिला का मेडिकल तक नहीं कराया गया। सवाल पर इंस्पेक्टर सीबीगंज गोविंद सिंह ने तो हैरान करने वाला तर्क दिया। कहा कि तहरीर में दुष्कर्म की बात ही नहीं लिखी गई थी। सवाल है कि घटनास्थल से महिला जब अर्धनग्न अवस्था में मिली। पति ने सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया। बावजूद मेडिकल कराने में पुलिस को आखिर हर्ज क्या था। विशेषज्ञ बताते हैं कि ऐसे मामले में जल्द से जल्द मेडिकल कराया जाना चाहिए। 48 घंटे के बाद दुष्कर्म की पुष्टि जैसी संभावनाएं रिपोर्ट में कम हो जाती है। साफ है पूरे मामले में पुलिस ने पर्दा डाल दिया है।

शनिवार शाम बंडिया बाजार से कपड़े खरीद कर एक महिला अपने घर लौट रही थी। इसी दौरान तीन युवकों ने उसका अपहरण कर उसे गन्ने के खेत में ले गए ।वहां पर उसे बुरी तरह मारा-पीटा। मरा समझकर आरोपित महिला को छोड़कर फरार हो गए थे। पीड़िता राजभर गन्ने के खेत में ही पड़ी रही थी। रविवार सुबह नौ बजे के करीब वह मिली। स्वजन ने अस्पताल में भर्ती कराया। पति ने तीन आरोपितों पर पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया। बावजूद पुलिस मामले को दबाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। 48 घंटे बीत जाने के बाद भी महिला के पूरे शरीर का मेडिकल नहीं कराया गया है। सोमवार को महिला के पति का आरोपों का वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया जिसमे वह पत्नी के साथ हुई हैवानियत को चीख-चीखकर कह रहा है। इधर, कुछ आरोपितों को हिरासत में लेकर पूछताछ का दावा किया जा रहा है।

लापरवाही का प्रत्यक्ष प्रमाण, वारदात के दूसरे दिन मुआयना

पूरे मामले में सीबीगंज पुलिस ने कदम-कदम पर लारवाही के प्रमाण छोड़े। रविवार को जब महिला खेत में मिली। तब पति ने बताया कि वह बच्चों के लिए बाजार से कपड़ा लेकर लौट रही थी। बावजूद घटनास्थल का मुआयना करना मुनासिब नहीं समझा गया। पुलिस ने महिला के अर्धनग्न मिलने की बात बताई। महिला बच्चों के लिए जो कपड़े लाई थी, उसके बारे में नहीं बता पाई। सोमवार को जब मामला सुर्खियों में आई तब पुलिस सरपट घटनास्थल की ओर दौड़ पड़ी। सीओ सेकेंड आशीष प्रताप सिंह फाेर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। निरीक्षण में महिला के द्वारा खरीदे गए कपड़े बरामद कर लिये गए।

मौके पर नहीं बुलाई गई फारेंसिक टीम

गंभीर प्रकरण में घटनास्थल के मुआयने के समय फारेंसिक टीम भी नहीं ले जाई गई। अगर मौके पर फारेंसिक टीम को बुलाया जाता तो अन्य साक्ष भी इकट्ठा किए जा सकते थे।

पुलिस का दावा, पुरानी रंजिश में मारपीट

तफ्तीश में पुलिस हैरान करने वाले तथ्य सामने आई। कहा कि पुरानी रंजिश में महिला के साथ मारपीट की गई। जिसमे युवती बेहोश हो गई थी। युवती के बयानों का आधार बनाते हुए कहा कि पुरानी रंजिश में ताहिर अली व उसके साथियों द्वारा मारपीट की गई और जान से मारने की नियम से हमला किया गया। जिसमे ताहिर की गिरफ्तारी की बात कही गई।

Please Share this news:
error: Content is protected !!