सोशल मीडिया पर सेक्सटॉर्शन के जाल में फंसाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, मास्टरमाइंड गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों का फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों से वसूली करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है. इस गिरोह के तार मेवात से जुड़े हैं. आरोपी की पहचान 23 साल के बरकत अली के रूप में हुई है.

पूछताछ में पता चला है कि गिरोह दिल्ली समेत देश भर के 200 से अधिक लोगों को सेक्सस्टाॅर्शन की जाल में फांस चुका है. आरोपी लोगों को अश्लील वीडियो बना लेते थे और फिर उसे वायरल करने के नाम पर लोगों के रुपए वसूलते थे.

अपराध शाखा के संयुक्त आयुक्त बीके सिंह ने बताया कि बीते दिनों इस संबंध में कई शिकायतें मिली थीं. पीड़ित सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों की फ्रेंड रिक्वेस्ट देखकर इसमें फंसे थे. आरोपी लोगों को अश्लील वीडियो भेजते थे और दूसरे लोग उनकों उकसाने का काम करते थे. गिरोह के अन्य सदस्य इस दौरान लोगों का वीडियो बना लेते थे.अधिकारी ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की एक टीम गठित की गई. टीम को तकनीकि सर्विलांस की मदद से पता चला कि गिरोह मेवात, हरियाणा में सक्रिय है. सूचना के आधार पुलिस ने मेवात से बरकत अली को गिरफ्तार कर लिया. वह हरियाणा पलवल का रहने वाला है.

आरोपी ने बताया कि वे फेसबुक, व्हॉट्सएप, टेलीग्राम, टिंडर आदि सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों की फोटो के साथ फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों को जाल में फंसाते थे. वह जाल में फंसे व्यक्ति से 15 से 20 हजार वसूलते थे. ताकि लोग आसानी से इतनी रकम दे दें और पुलिस के पास भी न जाएं.

पूछताछ में पुलिस टीम को पता चला है कि कई हाई प्रोफाइल परिवार से संबंध रखने वाले लोग भी इस गिरोह का शिकार बन चुके हैं. लेकिन वह शर्म की वजह से सामने नहीं आए.

आरोपी बरकत का पहले भी आपराधिक रिकॉर्ड रहा है. वह मैसूर में एक बैंक के एटीएम (ATM) को तोड़कर 12 लाख 86 हजार रुपए की लूट में शामिल था. पकड़े जाने पर जेल गया. जेल से बाहर आने के बाद आरोपी ने एक गिरोह बना लिया और फिर इस प्रकार की घटना को अंजाम देने लगा.

error: Content is protected !!