Viral Video; असम में हिंसा की गूंज पहुंची पाकिस्तान, मंत्री बोले- ये है अतुल्य भारत!

असम के दरांग जिले में पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच गुरुवार को हुई हिंसक झड़प में दो लोगों की जान चली गई थी और 9 पुलिसवाले भी घायल हुए थे. पुलिस के मुताबिक, इस घटना के बैकग्राउंड में असम सरकार का अतिक्रमण हटाओ अभियान था. इस अभियान की वजह से 20 सितंबर से ही असम के कुछ क्षेत्रों में तनाव बना हुआ था. जब पुलिस अतिक्रमण हटाने पहुंची तो स्थानीय लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया और पुलिस ने भी गोलियां चलाईं.  इसी हिंसा के दौरान असम के दरांग जिले के ढोलपुर गोरुखुटी क्षेत्र के एक फोटोग्राफर का शव के साथ बर्बरता का वीडियो वायरल हो गया जिसके बाद विपक्ष से लेकर मानवाधिकार संगठनों ने इसकी निंदा की.

इस वीडियो में एक कैमरामैन मृत के शव के साथ बर्बरता करते दिखा था. आसपास पुलिसवाले होने के बावजूद ये फोटोग्राफर बेझिझक शव के साथ अपनी हरकतों को दोहराता है. पुलिस ने इस कैमरामैन को गिरफ्तार कर लिया है.

Viral Video

इस वीडियो के वायरल होने के बाद पाकिस्तान में भी इस घटना को लेकर प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. पाकिस्तान में इस घटना को लेकर मुस्लिम इन इंडिया जैसे हैशटैग टॉप ट्रेंड कर रहे हैं. पाकिस्तान के सूचना एवं ब्रॉडकास्ट मिनिस्टर फवाद चौधरी ने उर्दू में ट्वीट करते हुए कहा कि कश्मीर के बाद असम से सुरक्षाबलों के मुसलमानों पर अत्याचार के वीडियो सामने आए हैं. कल जिस तरह से ब्रिटिश सांसदों ने कश्मीर में हो रहे अत्याचारों पर चर्चा की, वह काबिले तारीफ है.

आरोपी पत्रकार/फोटोग्राफर

इसके अलावा पाकिस्तान के मैरीटाइम मिनिस्टर अली जैदी ने भी पीएम मोदी की निंदा करते हुए भारत पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘अतुल्य भारत’? क्या वाकई ऐसा है? इससे पहले कि बहुत देर हो जाए, दुनिया को जागना चाहिए.’

पाकिस्तान की एक और मंत्री अंदलीब अब्बास ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट किया और लिखा कि हिंदुत्व राज के चलते भारत में मुसलमानों के प्रति घृणा, असहिष्णुता और कट्टरता बढ़ चुकी है.  मुसलमानों पर असम की पुलिस की बर्बर कार्रवाई के चलते दो नागरिक मारे गए. पुलिस की गोलियों से मारे गए व्यक्ति पर एक रीढ़विहीन और जटिल कैमरामैन को कूदते हुए भी देखा गया. 

इस घटना को लेकर पाकिस्तान के तमाम सोशल मीडिया यूजर्स ने भी रिएक्ट किया है.

error: Content is protected !!