उड़ान समाज सेवा संगठन ने की मानसिक रूप से बीमार लोगों के उपचार की मांग

पिछले कई सालों से टापरी में चार मानसिक रूप से बीमार लोग रह रहे है। जिनका यहां कोई नही हैं। स्थानीय लोग और पुलिस वाले ही इन लोगों का ख्याल रखते थे। जिसके चलते यह लोग आज भी जिंदा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर यहां पपु ढाबा नही होता तो शायद यह लोग आज तक जिंदा नही बच पाते।

आज इस मामले में किन्नौर स्थिति उड़ान समाज सेवा संगठन ने टापरी में इन चार मानसिक रूप से बीमार लोगों को खाना खिलाया और उनके बारे जानने की कोशिश की। उसके बाद संगठन के लोग स्थानीय पुलिस से भी मिले और उन्होंने इन लोगों के इलाज की मांग की। थाना प्रभारी कुमारी किरण ने उड़ान समाज सेवा संगठन के पदाधिकारियों की बात को सुना और आश्वासन दिया कि जल्दी ही पुलिस इन चारों लोगों को इलाज के लिए शिमला लेकर जाएगी और उनका पूरा उपचार टापरी पुलिस की निगरानी में होगा। उड़ान समाज सेवा संगठन ने भी पुलिस का सहयोग करने का प्रस्ताव रखा है। थाना प्रभारी में बताया कि आज तक इन मानसिक रोगियों के खाने पीने का ख्याल पुलिस कर्मियों और पपु ढाबे वाले ने रखा है।

उड़ान समाज सेवा संगठन ने पुलिस के इस मानवता भरे कार्य को सराहा है और समस्त पुलिस कर्मियों का इन मानसिक रोगियों का ख्याल रखने के लिए धन्यवाद किया है। उड़ान समाज सेवा संगठन का कहना है कि टापरी पुलिस को आने वाले समय में इस नेक कार्य के लिए सम्मानित करेगा। उन्होंने स्थानीय लोगों से अपील की है कि जब तक इन मानसिक रोगियों को इलाज के लिए नही ले जाया जाता तब तक स्थानीय जनता इनके खाने पीने और रहने का ख्याल रखे।

error: Content is protected !!