माइक्रोसॉफ्ट सीईओ सत्य नडेला और गूगल सीईओ सुंदर पिचाई करेंगे भारत की मदद

भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। नडेला ने ऑक्सीजन डिवाइस खरीदने में भारत की मदद की बात कही है. वहीं, पिचाई ने कोरोना संकट में मदद कर रहे विभिन्न संगठनों को 135 करोड़ रुपये की ग्रांट देने की बात कही।

भारत में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक साबित हो रही है। ऐसे में कई देशों ने भी भारत की मदद की बात कही है। वहीं कई कंपनियां भी मदद के लिए आगे आ रही हैं। माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी इस कोरोना संकट में भारत की मदद की बात कही है।

माइक्रोसॉप्ट के सीईओ नडेला ने ट्वीट कर कहा कि ”भारत की वर्तमान स्थिति से दुखी हूं। मैं आभारी हूं कि अमेरिकी सरकार मदद करने के लिए जुट गई है। माइक्रोसॉफ्ट राहत के प्रयासों में सहायता के लिए अपनी वॉइस, संसाधनों और तकनीक का उपयोग करना जारी रखेगी। क्रिटिकल ऑक्सीजन कंसन्ट्रेशन डिवाइस खरीदने में सपोर्ट करेगी।”

वहीं, गूगल सीईओ पिचाई ने ट्वीट किया-”गूगल और गूगलर्स 135 करोड़ रुपये की फंडिग यूनिसेफ को मेडिकल सप्लाई के लिए, हाई रिस्क वाली कम्युनिटी का सपोर्ट करने वाले संगठनों और महत्वपूर्ण इंफोर्मेशन देने में मदद करने वालों को ग्रांट के तौर पर दे रहे हैं।”

भारत को वैक्सीन के लिए कच्चा माल देगा अमेरिका
सत्य नडेला और सुंदर पिचाई के ट्वीट भारत को अमेरिका के कच्चे माल की आपूर्ति के लिए तैयार होने के बाद आए हैं। गौरतलब है कि राष्ट्रीय‌ सुरक्षा सलाहकार, अजीत डोवाल ने रविवार को‌ अमेरिका के एनएसए जैके सुलीवन से फोन पर बात की थी। इस बातचीत के बाद अमेरिका अब भारत को कोविड वैक्सीन के उत्पादन के लिए जरूरी कच्चा माल देने के लिए तैयार हो गया।

भारत को हर संभव मदद का दिया भरोसा
जैके सुलीवन भारत से दोस्ती दोहराई और इस‌ संकट की घड़ी में भारत को हर संभव मदद देने की बात कही। प्रवक्ता के मुताबिक, “अमेरिका ने कोविशील्ड वैक्सीन के भारतीय निर्माण के लिए तत्काल आवश्यक कच्चे माल के स्रोतों की पहचान की है जो तुरंत भारत के लिए उपलब्ध होगी।”

error: Content is protected !!