दो दिन पंखे से लटकता रहा छात्र का शव, आत्महत्या से पहले सोशल मीडिया पर डाली थी कविताएं

Punjab News: एमएम यूनिवर्सिटी मुलाना के हॉस्‍टल में एक बीटेक के छात्र का संदिग्ध परिस्थितियों में शव पंखे से लटका मिला। कमरा अंदर से बंद होने के कारण तोड़ना पड़ा। सूचना मिलते ही मुलाना पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी। शव से काफी खून बह रहा था। मृतक की पहचान पूर्ण इंदु मिश्रा निवासी गांव पंचमबा जिला दरभंगा बिहार के रूप में हुई है। मुलाना थाना प्रभारी चंद्रभान ने बताया कि एमएम यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में एक छात्र ने सुसाइड की है। उसके परिजनों को सूचना दे दी गई है, जबकि आगामी जांच जारी है ।

यह थी वजह

मुलाना यूनिवर्सिटी (डीम्ड टू बी) के छात्र पूर्णेंद्रु मिश्रा निवासी दरभंगा बिहार ने डिप्रेशन में आकर सुसाइड की थी। उसके इंटरनेट मीडिया पर कविताएं पोस्ट की थीं, जिससे आभास हो रहा है कि वह डिप्रेशन में आ चुका था। इसी के कारण उसने सुसाइड जैसा कदम उठा लिया।

दो दिन तक लटका रहा शव

दो दिन तक हास्टल के कमरे में शव लटका रहा, जबकि दुर्गंध आने पर पुलिस को बुलाया। कमरे का दरवाजा तोड़कर देखा कि छात्र फंदे पर लटका है। मुंह से खून निकल रहा है। दो दिनों तक गर्मी में शव फंदे पर लटका, जिसके कारण मुंह से खून आना शुरू हो गया था। पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई के बाद शव वारिसों को सौंप दिया है। स्वजनों ने इस मामले में किसी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं दी है। बताया जाता है कि एक लड़की से छेड़छाड़ के मामले में उसका नाम आने पर स्वजनों ने उसे डांटा था। वह अपने घर से तीस मार्च को हास्टल आया था।

परिवार वालों का नहीं कॉल रिसीव कर रहा था

मृतक के भाई यशवर्धन ने बताया कि कुछ दिनों पहले पूर्णेंद्रु की काल आई थी और स्वजनों से बातचीत की थी। इसके कुछ दिन बाद फिर से मैसेज किया था कि अब दोबारा बात नहीं करेगा। इस पर स्वजन भी परेशान हो गए थे, जबकि मोबाइल पर काल कर रहे थे, लेकिन वह काल ही रिसीव नहीं कर रहा था। इस पर हॉस्‍टल के प्रबंधन को सूचना दी गई थी। बाद में पुलिस का ही फोन आया और बताया गया कि पूर्णेंद्रु ने फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया है।

आत्‍महत्‍या से पहले अपलोड की कविताएं

सुसाइड से पहले छात्र ने अपनी मां, पिता, भाई, बहन और अपने प्यार के लिए कुछ कविताएं लिखीं और इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट कर दी थीं। पुलिस की मानें, तो अभी तक यही सामने आया है कि छात्र ने डिप्रेशन में यह कदम उठाया है। वह किस कारण से डिप्रेशन में था, इसके बारे में स्वजन भी कुछ बता नहीं पा रहे हैं। आवश्यक कार्रवाई के बाद शव वारिसों को सौंप दिया है।

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!