जांच पूरी होने से पहले मुख्यमंत्री का पीएसओ बलवंत और पुलिस अधीक्षक गौरव सस्पेंड

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान दो पुलिस अफसरों के बीच झ़ड़प मामले में कार्रवाई की गई है. कुल्लू के पूर्व एसपी गौरव सिंह और सीएम के पीएसओ बलवंत सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. हालांकि, मामले में एएसपी ब्रजेश सूद पर कार्रवाई नहीं की गई है. एक समाचार पत्र की रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है. क्योंकि अब तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई.

दरअसल, सीएम ने मामले की जांच के आदेश दिए थे और तीन दिन में रिपोर्ट मांगी थी. ऐसे में रिपोर्ट से पहले ही एसपी गौरव सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. वहीं, पीएसओ पर भी कार्रवाई हुई है.

इससे पहले पहले गुरुवार देर रात सरकार ने कुल्लू में नए एसपी की तैनाती कर दी. मंडी में एसपी रहे गुरदेव सिंह को कुल्लू का नया एसपी बनाया गया है. वहीं, सीएम सिक्योरिटी का जिम्मा अब पुनीत रघु को सौंपा गया है.

अब तक क्या क्या हुआ?
दरअसल, यह मामला उस वक्त शुरू हुआ जब सीएम का हेलिकॉप्टर कुल्लू के ढालपुर मैदान में लैंड हुआ. इस दौरान धूल का गुब्बार उठा. बाद में सीएम के सिक्योरिटी इंचार्ज ब्रजेश सूद ने एसपी को चलते चलते कहा कि मैंने कहा था न कि पानी डालना था. इस पर एसपी ने जबाव दिया था कि डाला गया है. वहीं, सीएम के काफिले के दौरान सिक्योरिटी की गाड़ी भी काफी पीछे थे. इस पर भी दोनों अफसरों में बहस हुई थी. बाद में जब फोरलेन के प्रभावितों ने गडकरी से मुलाकात की तो इस पर सीएम चिढ़ गए और अपनी सिक्योरिटी से भी नाराजगी जताई थी. इस पर ब्रजेश सूद ने एसपी से कुछ कहा था, जिसपर उन्होंने उन्हें थप्प़ड़ जड़ दिया था. बाद में पीएसओ बलवंत सिंह ने एसपी गौरव सिंह को लात मारी थी. अब दोनों पर गाज गिरी है.

घटना के बाद तीनों पुलिसकर्मियों को सरकार ने जबरन छुट्टी पर भेज दिया था और तीन दिन में रिपोर्ट मांगी गई थी. अभी तक रिपोर्ट सरकार को नहीं भेजी गई है. रिपोर्ट आने से पहले ही देर रात दो अफसरों को सस्पेंड कर दिया गया. वहीं, ब्रजेश सूद पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है. इस मामले में तीनों पुलिसकर्मियों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं.

Share This News:

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!