धर्मांतरण मामला; स्कूल अध्यापिका का खुलासा, बताया, हिन्दू बच्चों को जबरन पढ़ाई जाती थी उर्दू और अरबी

UP News : धर्मान्तरण मामले में एक नया खुलासा सामने आया है, ताजा मामला यूपी के फतेहपुर जिले का है जहाँ धर्मान्तरण मामले में आरोपी उमर गौतम उर्फ़ श्याम प्रताप गौतम जो की जिले के थरियांव थाना क्षेत्र के पंथुवा गाँव का रहने वाला था जो 1979 में जिला छोड़कर नैनीताल के पंतनगर चला गया था जिसके बाद वह वही दिल्ली चला गया , जिसके बाद उसने अपना धर्म परिवर्तन कर इस्लाम धर्म कबूल कर लिया और हजारों लोगों का पैसे का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करा दिया।

बता दें कि इसी बीच उसका जिले में लगातार आना जाना था और शहर के एक नामचीन स्कूल नुरुल हुदा में भी उसका आना जाना था और उसी स्कूल में काम करने वाली महिला टीचर ने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया की वर्ष 2020 में 20 से 25 मौलानाओं के साथ उमर गौतम स्कूल में आया था और महिला टीचर को मौलानाओं ने धर्म परिवर्तन करने दबाव बनाया था।

इस बाबत जिले की शहर स्थित बाकरगंज मोहल्ले की रहने वाली महिला टीचर कल्पना सिंह ने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया की शहर के एक नामचीन स्कूल नुरुल हुदा में भी उसका आना जाना था स्कूल में पढने वाले हिन्दू बच्चों को उर्दू व अरबी पढ़ाया जाता था जिसका मेरे द्वारा विरोध किया गया तो मुझे स्कूल से बाहर निकाल दिया गया, टीचर ने आगे बताया कि जिसे लेकर मेरे द्वारा जिले के सदर कोतवाली में तहरीर देकर सुसंगत धाराओं में स्कूल के प्रबंधक शरीफ मौलाना व उसके पुत्र उमर शरीफ के खिलाफ धारा 406, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया लेकिन पुलिस ने इस मामले में पुलिस ने स्कूल प्रबंधतंत्र से कोई पूछताछ की और मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया।

Share This News:

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,615 other subscribers

error: Content is protected !!