हिमाचल में फरवरी से खुलेंगे स्कूल-कालेज, मंत्रिमंडल का बड़ा फैसला

हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 लॉकडाऊन के कारण करीब दस महीनों से बंद सरकारी स्कूल एक फरवरी से खुल जाएंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आज यहां हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार शिक्षकों व अन्य स्टाफ को 27 जनवरी से स्कूल आना होगा और कक्षाएं एक फरवरी से लगेंगी। स्कूल परिसर में फेस मास्क, परस्पर दूरी और हैंड सेनेटाइजर के उपयोग जैसे नियमों का पालन किया जाएगा। इसी तरह औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान और बहुतकनीकी एवं अभियांत्रिकी महाविद्यालय भी एक फरवरी से खोले जाएंगे।

महाविद्यालय आठ फरवरी से नियमित कक्षाओं के लिए खोले जाएंगे। कैबिनेट ने फैसला लिया है कि हिमाचल में पहली फरवरी से ग्रीष्मकालीन स्कूल खुलेंगे। आठवीं से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों की नियमित कक्षाएं आयोजित की जाएंगी। वहीं, शीतकालीन अवकाश वाले स्कूलों में 12 फरवरी तक अवकाश रहेगा। अवकाश के बाद 15 फरवरी से इन जिलों में भी आठवीं से 12वीं के विद्यार्थियों की नियमित कक्षाएं शुरू होंगी।

ग्रीष्मकालीन स्कूलों में पहली फरवरी से पांचवी कक्षा की भी नियमित कक्षाएं शुरू होंगी। हर घर पाठशाला के तहत शिक्षा के लिए ऑनलाइन प्रणाली जारी रहेगी। इसी तरह की प्रणाली राज्य में निजी स्कूलों की ओर से भी अपनाई जा सकती है। पहली फरवरी से हिमाचल में आईटीआई, पॉलिटेक्निक और इंजीनियरिंग कॉलेज भी खुल जाएंगे। आठ फरवरी से सभी डिग्री कॉलेजों में नियमित कक्षाएं शुरू होंगी।

ग्रीष्मकालीन जिलों के स्कूलों में 27 जनवरी से शिक्षकों को नियमित तौर पर स्कूल आना होगा। सर्दियों की छुट्टियों के बाद शिक्षण संस्थानों में कोरोना को लेकर जारी एसओपी का सख्ती से पालन किया जाएगा।  कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने आईजीएमसी शिमला, नालागढ़, टांडा मेडिकल कॉलेज और नेरचौक में मेक शिफ्ट अस्पतालों का निर्माण किया है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!