आधे फटे 10 रुपये पर लिखे 6 अंकों के कोड से पुलिस ने पकड़ा ढ़ाई करोड़ का गांजा

पुलिस मुख्यालय भोपाल द्वारा नारकोटिक्स तस्करी में लिप्त नारकोटिक्स माफिया के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं।

इन्हीं निर्देशों के तहत पुलिस महानिरीक्षक रीवा जोन रीवा उमेश जोगा के नेतृत्व में नारकोटिक्स के रैकेट के विरुद्ध आरोपियों की धरपकड़ के लिए विशेष अभियान ” ऑपरेशन ऑल आउट ” चलाया जा रहा है। रीवा जोन की नारकोटिक्स इंटेलिजेंस यूनिट लगातार इस नारकोटिक्स तस्करों के नेटवर्क की निगरानी कर रही है।

पुलिस को मुखवीर से सूचना मिली कि ट्रक में बड़ी संख्या में गांजा तस्करी की जा रही है। गुरुवार को पुलिस महानिरीक्षक उमेश जोगा, उप पुलिस महानिरीक्षक, अनिल सिंह कुशवाह व पुलिस अधीक्षक सतना धर्मवीर सिंह , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार जैन एवं नगर पुलिस अधीक्षक सीएसपी विजय प्रताप सिंह परिहार के मार्गदर्शन में कार्यवाही करते हुए नाकेबंदी की और थाना कोलगवा पुलिस द्वारा ट्रक क्रमांक को जब्त कर कुल 11 क्विंटल 70 किलोग्राम गांजा जब्त किया गया है। जिसकी बाजार कीमत लगभग 2 करोड़ 34 लाख रु है। इसके बाद गांजा कहां ले जाया जा रहा है ये जांच का विषय था।

प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों द्वारा उक्त गांजा भुवनेश्वर से मुरादाबाद के बब्बू मुसलमान के कहने पर सतना के अरुण कुशवाहा व बबलू कुशवाहा के लिए बैकुंठपुर ले जाने के लिए लाए थे। आरोपियों की तलाशी पर 10 रु का आधा फटा नोट भी मिला। ये 10 रुपए के नोट में अंकित 6 अंक कोड था, जो मुरादाबाद के बब्बू मुसलमान ने फिक्स किया था। जैसे ही आरोपी अरुण कुशवाहा ने 10 रुपए का कोड नंबर वाला नोट ट्रक ड्राइवर को दिया। वैसे ही ड्राइवर अरुण कुशवाहा, प्रिंस साकेत और बबलू कुशवाहा के साथ ट्रक लेकर रीवा के लिए रवाना हो गया। वहां पहले से तैयार पुलिस टीम ने घेराबंदी कर 3 आरोपियों को हिरासत में लिया।

इसी दौरान आरोपी बबलू कुशवाहा तथा प्रिंस फरार हो गए। जांच करने पर आरोपियों ने ट्रक में मुरमुरे के बोरों के नीचे 39 बोरों में कुल 11 क्विंटल 70 किग्रा गांजा छिपाकर रखा था जो भुवनेश्वर से मुरादाबाद के तस्कर बब्बू मुसलमान के द्वारा रीवा के बबलू कुशवाह के लिए तस्करी कर सप्लाई किया जा रहा था। इस संबंध में आरोपियों के विरुद्ध थाना कोलगवा में अपराध कायम कर विवेचना की जा रही है।

error: Content is protected !!