कोरोना पर अंतिम प्रहार: टीकाकरण महाअभियान से पहले कल देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

16 जनवरी यानी शनिवार से भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान के रूप में निर्णायक जंग की शुरुआत हो रही है। भारत में कल यानी शनिवार को टीकाकरण अभियान के शुरुआत से पहले सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित करेंगे। माना जा रहा है कि राष्ट्र को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 16 जनवरी की सुबह वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से देशव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे। यह विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान होगा।

कोरोना महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में अंतिम हथियार साबित होने वाला टीकाकरण अभियान नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के लिए निर्धारित दिनों को छोड़कर प्रतिदिन सुबह 9 से शाम 5 बजे तक आयोजित किया जाएगा। टीकाकरण के पहले अभियान में सबसे पहले देश के स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्करों को कोरोना का टीका दिया जाएगा। इसके बाद 50 साल से ऊपर की उम्र वालों को टीका दिया जाएगा और फिर 50 साल के अंदर वाले उन लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा जिन्हें डायबिटीज, हाइपरटेंशन, दिल, किडनी या अन्य कोई संबंधित बीमारी है।

बीते कुछ महीनों में पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम यह दूसरा संबोधन होगा। इससे पहले अक्टूबर महीने में पीएम मोदी ने देश को संबोधित किया था और लॉकडाउन हटने के बाद भी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कवायद के लिए लोगों को कोरोना के खिलाफ जंग लड़ते रहने की याद दिलाई थी। बता दें कि कल होने वाले टीकाकरण अभियान से पहले सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में टीकों की पर्याप्त खुराकें भेज दी गई हैं।

राज्यों को सलाह दी गई है कि वे 10 फीसदी आरक्षित/बर्बाद खुराकों और रोजाना प्रत्येक सत्र में औसतन 100 टीकाकरण को ध्यान में रखते हुए टीकाकरण सत्रों का आयोजन करें। राज्यों से यह भी कहा गया है कि प्रत्येक टीका केंद्र पर हड़बड़ी में तय सीमा से ज्यादा संख्या में लोगों को न बुलाएं। मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को टीकाकरण सत्र स्थलों को बढ़ाने की सलाह दी है और उनके रोजाना संचालन की बात कही है ताकि टीकाकरण प्रक्रिया स्थिर हो सके और आगे सुचारू रूप से बढ़ सके।

Please Share this news:
error: Content is protected !!