नंदोई पांच साल से कर रहा था शारीरिक शोषण, महिला ने आग लगाकर की आत्महत्या

राजधानी में मंगलवार देर शाम एक महिला ने खुद को कमरे में बंद कर आग लगा ली। उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। महिला के पति ने उसके नंदोई पर प्रताड़ना और शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। आशियाना पुलिस आरोपों की जांच कर रही है।

दरवाजा तोड़कर महिला को निकाला बाहर: मामला आशियाना क्षेत्र के रजनीखंड का है। यहां की रहने वाली एक महिला का पति पेंटर है। मंगलवार शाम महिला ने खुद को कमरे में बंद कर आग लगा ली। कमरे से आग की लपटें निकलती और चीख पुकार सुनकर उसकी दोनों बेटी और एक बेटा रोने लगा। शोर सुनकर आस-पड़ोस के लोग और बाहर बैठा महिला का पति आ गया।

आनन-फानन में दरवाजा तोड़कर किसी तरह महिला को निकाला। पानी और कंबल डालकर आग पर काबू पाया। इसके बाद उसे गंभीर हालत में अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां महिला की हालात नाजुक बताई जा रही है।

बच्चों को जान से मारने की धमकी देकर नंदोई कर रहा था शारीरिक शोषण: पति का आरोप है कि नंदोई करीब पांच साल से पत्नी का शारीरिक शोषण कर रहा था। वह बच्चों को जान से मारने की धमकी देकर पत्नी को डराता और धमकाता था। इस कारण पत्नी विरोध नहीं कर सकी और न ही किसी को घर में उसने जानकारी दी। महिला के पति ने बताया कि जब वह काम पर चला जाता तो नंदोई घर आता और पत्नी को प्रताड़ित करता था।

जांच के आधार पर होगी कार्यवाही: इंस्पेक्टर आशियाना परमहंस गुप्ता ने बताया कि महिला या उसके पति ने पहले कभी शारीरिक शोषण किए जाने की कोई शिकायत नहीं की है। अब आरोप लगाया है। आरोपों की जांच की जा रही है। जो भी तथ्य जांच में आएंगे उसके आधार पर कार्यवाही की जाएगी।

error: Content is protected !!