शारीरिक संबंध बना कर फ़ोटो वीडियो बनाने वाले को तीन साल की सजा और 50 हजार जुर्माना

शादी का प्रलोभन देकर युवती का अश्लील वीडियो बनाने वाले आरोपित को अपर सत्र न्यायाधीश (एफटीसी) खिलावन राम रिगरी ने 3 वर्ष सश्रम कारावास व 50 हजार रूपए अर्थदंड से दंडित किया।

अभियोजन के अनुसार वर्ष 2012 में शिवरीनारायण थाना अंतर्गत केसला निवासी हेमंत साहू (24) पिता चैतराम साहू की बहन की शादी में पीड़िता शामिल हुई। शादी के समय पीड़िता को अकेली देखकर हेमंत उसके साथ छेड़खानी किया था, लेकिन पीड़िता ने पारिवारिक मामला सोचकर उक्त घटना के बारे में किसी को नहीं बताई। रिपोर्ट दर्ज होने के पांच माह पूर्व से हेमंत पीड़िता को शादी का झांसा देकर उसके साथ संबंध बनाता रहा। साथ ही संबंध बनाते समय फोटो खींचता था। इस दौरान पीड़िता द्वारा विरोध करने पर वह फ़ोटो वायरल करने की धमकी देने लगा। 8 फरवरी 2019 को वह पीड़िता को अपने घर ले जाकर संबंध बनाया और वीडियो एवं फोटो बनाकर पीडिता के मोबाइल पर भेज दिया। पीड़िता ने घटना के संबंध में अपने माता पिता एवं भाई को बताई और 18 मई 2019 को पुलिस थाना शिवरीनारायण में घटना की लिखित रिपोर्ट कराई। पुलिस ने प्रार्थिया की रिपोर्ट पर शिवनीरायण थाना में आरोपित के खिलाफ जुर्म दर्ज कर अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया। मामले की सुनवाई के दौरान न्यायालय ने आरोपित हेमंत साहू पिता चैतराम को युवती का अश्लील फोटो व वीडियो बनाने का दोषी पाया। न्यायालय ने आरोपित हेमंत साहू को आईटी एक्ट की धारा 67 के अपराध के लिए 3 वर्ष सश्रम कारावास व 50 हजार रूपए अर्थदंड से दंडित किया। अर्थदंड की राशि अदा नहीं करने पर आरोपित को 10 माह का अतिरिक्त कारावास भुगताए जाने का आदेश दिया गया। उक्त प्रकरण में अभियोजन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक (एफटीसी) बालकृष्ण मिश्रा जांजगीर ने की।

error: Content is protected !!