वीडियो कॉल करके अश्लील वीडियो बनाने और ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का शातिर गिरफ्तार

वाट्सएप कालिग के दौरान अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का एक और शातिर को साइबर थाना पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। गिरोह के तीन आरोपित पहले पकड़े जा चुके हैं।

जयपुर का आरोपित गिरोह को बैंक खाते उपलब्ध कराता था, जिनमें ठगी की रकम ट्रांसफर की जाती थी। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में जुट गई है।

मूलरूप से बरेली के रहने वाले जेएन मेडिकल कालेज के एक डाक्टर के साथ 19 मई को तीन लाख 13 हजार 321 रुपये की ठगी हुई थी। डीआइजी दीपक कुमार ने साइबर थाना के इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार के नेतृत्व में टीम गठित की। जांच में कुछ बैंक एकाउंट प्रकाश में आए, जिनमें रुपये ट्रांसफर हुए थे। इस आधार पर पुलिस ने झांसी से तीन लोगों को पकड़ा गया था। इसके बाद राजस्थान के जयपुर जिले के विवेक विहार कालोनी निवासी संजय सिंह का नाम सामने आया। पुलिस ने जयपुर में दबिश भी दी। लेकिन, आरोपित नहीं मिला। इस पर पुलिस ने इसका बैंक खाता फ्रीज करा दिया। आरोपित को इसकी भनक लगी तो वह बुधवार को खाता संबंधी जानकारी लेने के लिए अलीगढ़ आया। तभी पुलिस ने नुमाइश ग्राउंड के सामने से आरोपित संजय को दबोच लिया। इसके पास से दो मोबाइल फोन, तीन डेबिट कार्ड, आरसी, पहचान पत्र, आधार व पैन कार्ड आदि बरामद किए गए हैं। इंस्पेक्टर ने बताया कि यह गिरोह फेसबुक पर पहले किसी लड़की के नाम से फर्जी आइडी बनाता है। फिर बातचीत करके लोगों को झांसे में लेकर वाट्सएप कालिग करता है। इसी दौरान अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करते हुए ठगी करता है।

अलवर से संचालित हो रहा गिरोह

पकड़े गए आरोपित ने पांच-छह खातों के बारे में जानकारी दी है। पुलिस खातों में रकम के ट्रांसफर होने की जानकारी जुटा रही है। वहीं जांच में गिरोह के कुछ और लोगों के नाम सामने आए हैं, जो कालिग और ब्लैकमेलिग का काम करते हैं। गिरोह अलवर से संचालित हो रहा है। पुलिस जल्द ही अलवर में भी दबिश दे सकती है।

error: Content is protected !!