अनुच्छेद 370, पूर्ण राज्य एक दर्जा वापिस, जल्द चुनाव करवाने और कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास, सर्वदलीय बैठक में विपक्ष की मांगे

Delhi News : एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कश्मीर मुद्दे पर बुलाए गए कश्मीरी नेताओं की सर्वदलीय बैठक में कहा कि वो दिल्ली और दिल की दूरी को खत्म करना चाहते हैं। वहीं, दूसरी तरफ एक बार फिर से विपक्षी दलों ने जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा देने और अनुच्छेद 370 को बहाल करने की मांग पर जोर दिया है।

बैठक खत्म होने के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नवी आजाद ने कहा है कि अधिकांश विपक्षी दलों ने पीएम मोदी के सामने इन मांगों को रखा है।

आजाद ने कहा है, “लगभग 80% पार्टियों ने धारा 370 पर बात की लेकिन मामला अदालत में विचाराधीन है। हमारी मांगों में शीघ्र पूर्ण राज्य का दर्जा, लोकतंत्र बहाल करने के लिए चुनाव, कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास, सभी राजनीतिक बंदियों को रिहा किया जाना और भूमि, रोजगार की गारंटी की मांगे रही है।”

वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती ने सर्वदलीय बैठक के बाद कहा है, “मैंने बैठक में प्रधानमंत्री की प्रशंसा की और कहा कि आपने पाकिस्तान से बात कर सीज़फायर करवाया। घुसपैठ कम हुई ये अच्छी बात है। जम्मू-कश्मीर के लोगों को पाकिस्तान से बात करने पर सुकून मिलता है तो आपको पाकिस्तान से बात करनी चाहिए।”

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी इस बैठक में शामिल हुए। पीएम मोदी के साथ कश्मीर मामले पर सर्वदलीय बैठक में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा, ” प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक में कहा कि हम चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्ज़ा जल्द से जल्द मिले और वहां पर चुनाव भी जल्द से जल्द करवाए जाएं।”

Share This News:

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,137 other subscribers

error: Content is protected !!