Omicron: महज एक महीने में 108 देशों में फैला ओमिक्रोन, जानिए क्या है देश व दुनिया का हाल

कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट पूरी दुनिया में तेजी से फैल रहा है, जिसके कारण कई देशों ने यात्रा प्रतिबंध और अन्य पाबंदियां लगानी शुरू कर दी हैं. 24 नवंबर को साउथ अफ्रीका में इस वेरिएंट का पता लगने के बाद अब तक यह 108 देशों में फैल चुका है.

इनमें से अमेरिका और ब्रिटेन सहित कई देशों में यह वेरिएंट हावी हो चुका है. इन 108 देशों में ओमिक्रॉन वेरिएंट के अब तक 1.51 लाख से अधिक मामले दर्ज किए जा चुके हैं और इससे 26 लोगों की मौत हुई है.

भारत में ओमिक्रॉन से संक्रमण के पहले दो मामले कर्नाटक में 2 दिसंबर को सामने आए थे. इसके बाद से अब तक 415 केस दर्ज किए जा चुके हैं. हालांकि देश में इससे संक्रमित होने वालों की कोई मौत नहीं हुई है. सिर्फ 22 दिनों में देश के 17 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से ओमिक्रॉन वेरिएंट के केस सामने आ चुके हैं. इससे संक्रमितों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र में 108, दिल्ली में 79, गुजरात में 43, तेलंगाना में 38, केरल में 37, तमिलनाडु में 34 और कर्नाटक में 31 है.

साउथ अफ्रीका

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल मई की शुरुआत में साउथ अफ्रीका में नए मामलों के लिए डेल्टा वेरिएंट सिर्फ 2 फीसदी जिम्मेदार था, जो कि 12 जुलाई तक बढ़कर 89 फीसदी हो गया. वहीं, 24 नवंबर को पहली बार ओमिक्रॉन का मामला दर्ज होने के बाद 13 दिसंबर तक यह वेरिएंट देश में हावी हो गया. मौजूदा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कुल नए मामलों में 95 फीसदी केस ओमिक्रॉन वेरिएंट के आ रहे हैं.

ब्रिटेन

इस साल 5 अप्रैल तक यहां कोरोना वायरस के मामलों में डेल्टा वेरिएंट के केस सिर्फ 0.10 फीसदी आ रहे थे जो मई अंत तक बढ़कर 74 फीसदी हो गया था. जून तक देश में कोविड-19 के नए मामलों में डेल्टा वेरिएंट की संख्या 90 फीसदी हो चुकी थी. फिलहाल, ओमिक्रॉन वेरिएंट के कारण ब्रिटेन में संक्रमण के नए मामलों का रिकॉर्ड टूट गया. देश में 24 दिसंबर को 1.22 लाख से ज्यादा संक्रमण के मामले आए. नए मामलों में करीब 10 फीसदी केस ओमिक्रॉन के दर्ज हो रहे हैं.

अमेरिका

अमेरिका में 19 अप्रैल तक देश में कोविड के मामलों में डेल्टा वेरिएंट 0.31 फीसदी जिम्मेदार था, लेकिन जून के अंत तक यह 50 फीसदी हो गया. वहीं एक महीने बाद, जुलाई के अंत तक संक्रमण के नए केस में डेल्टा वेरिएंट की संख्या 90 फीसदी पहुंच गई थी. वहीं अब ओमिक्रॉन के केस आने के बाद संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं. सीडीसी ने कहा था कि पिछले हफ्ते दर्ज मामलों में 70 फीसदी से ज्यादा केस ओमिक्रॉन के थे.

जर्मनी

यहां डेल्टा वेरिएंट का मामला पहली बार सामने आने पर यह कुल नए केस के लिए 0.69 फीसदी जिम्मेदार था. हालांकि ओमिक्रॉन वेरिएंट का पता चलने के कुछ ही दिनों में नए मामलों में इसकी संख्या 9 फीसदी हो चुकी है. नए वेरिएंट के बढ़ते खतरे को देखते हुए देश में नए साल के जश्न पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!