15 वर्षीय नाबालिग से 20 हजार में शादी करने वाला अधेड़ गिरफ्तार, भागलपुर से मोतिहारी ले जा रहा था

Bihar News: जिले के जगदीशपुर गांव से बाल विवाह का एक नया मामला सामने आया है। यहां पंद्रह वर्षीय किशोरी से विवाह करने वाले मोतिहारी जिला के मधुवन थाना क्षेत्र के लहलादपुर गांव के 45 वर्षीय विजय यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार देर शाम फुलविरया पेट्रोल पंप के पास से विजय की गिरफ्तारी हुई है।

विजय ने बताया कि शादी के लिए उसने किशोरी के रिश्ते के नाना और मामा को बीस हजार रुपये दिए थे। शादी किशोरी के संबंधियों की सहमति से पक्की सराय में शुक्रवार की रात की गई। विवाह संपन्न होने के बाद लड़की के स्वजनों और बड़ों से आशीर्वाद लेने लड़की के घर जगदीशपुर गया था। वहां से अपने घर मोतिहारी जा रहा था, तभी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

उसने बताया कि वह हरियाणा में मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करता है। लेकिन घरवालों ने कभी शादी कराने की नहीं सोची। लड़की के स्वजनों ने बताया कि लड़की कक्षा सात में पढ़ती थी। दो वर्ष पूर्व उसने पढ़ाई छोड़ दी थी। लड़की के पिता मजदूरी करते हैं। मां का बचपन में ही निधन हो गया है। लड़की का ननिहाल भी जगदीशपुर में ही है। नानी की बहन पक्कीसराय में रहती है। घर में किसी को मालूम नहीं था कि शादी हो रही है।

डीएसपी सह थानाध्यक्ष बिपिन बिहारी ने बताया कि शादी कराने में ताड़र की एक महिला का हाथ होने की बात सामने आ रही है। पुलिस महिला को भी पूछताछ के लिए थाने लाई है। थानाध्यक्ष ने कहा कि पीड़िता का बयान न्यायालय में कराया जाएगा। प्राथमिकी के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही थी। बाल विवाह के इस मामले के बाद से इलाके में चर्चा का बाजार गर्म है। पैसे देकर एक अधेड़ की शादी बच्ची के साथ कराना पूरी तरह से ह्यूमन टैफ्रिंग जैसा केस होता है। देखना होगा कि पुलिस अधेड़ पर कौन-कौन सी धाराओं के साथ केस दर्ज कराती है।

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,547 other subscribers

error: Content is protected !!