मनीमाजरा किडनेपिंग केस; पड़ोसियों ने अगवा किया था 10वी का छात्र, मांगी 65 लाख फिरौती

मनीमाजरा के रेलवे फाटक के पास से दसवीं के छात्र के अपहरण करने के मामले में मनीमाजरा थाना पुलिस ने दो भाइयों समेत चार दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी फरार है। शुरुआती जांच में सामने आया है कि पीड़ित छात्र की बहन की शादी थी, ऐसे में पड़ोस में रहने वाले दो भाई विशाल और पंकज को लगा कि घर में काफी सारा पैसा होगा इसके लिए दोनों ने रेकी कर अपने तीन दोस्त अजय पंडित, मुकेश कुमार और रजत के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दे डाला।

एसएसपी कुलदीप सिंह चहल ने बताया कि आरोपियों को राम दरबार समेत अलग शहर के अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया गया है। बलटाना के रहने वाले आरोपी अजय पंडित की तलाश जारी है।

जांच में सामने आया कि ब्रेजा गाड़ी आरोपी अजय पंडित की थी और उसने टॉय पिस्टल से वारदात को अंजाम दिया था। गुरुवार को चारों आरोपियों को पुलिस ने जिला अदालत में पेश कर चार चार दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया है।

मंगलवार सुबह साढ़े चार बजे मनीमाजरा के रेलवे फाटक के पास से ब्रेजा कार सवार तीन लोगों ने चाकू की नोक पर किशनगढ़ के छात्र का अपहरण कर लिया था। इसके बाद आरोपियों ने छात्र के मोबाइल से उसके परिजनों को फोन कर 65 लाख, 60 लाख, 55 लाख और फिर 50 लाख की फिरौती मांगी थी। हालांकि पुलिस की मुस्तैदी के चलते अपहरणकर्ताओं ने उसे करीब चार घंटे बाद पंचकूला के सेक्टर-15 स्थित पेट्रोल पंप के पास छोड़ कर फरार हो गए। इसके बाद से पुलिस अपहरणकर्ताओं के खिलाफ बनती धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

error: Content is protected !!