नसीम ने अंकित बन हिन्दू युवती को प्रेम जाल में फंसाया, बलात्कार किया और जबरन कलमा पढ़ाया

इंदौर: मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले से लव जिहाद की शिकार दुष्कर्म पीड़ित 20 वर्षीय हिंदू युवती ने जबलपुर जिला अदालत में नींद की गोलियाँ खाकर ख़ुदकुशी करने का प्रयास किया।

पीड़िता का आरोप है कि पहले से ही विवाहित नसीम अहमद ने उसे अंकित ठाकुर बनकर उसे प्रेमजाल में फँसाया और उसका बलात्कार किया। अब आरोपित के परिजन उसे अदालत में अपना बयान बदलने को लेकर धमका रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, आरोपित नसीम अहमद ने अपना नाम अंकित ठाकुर बताकर पीड़िता को प्रेम जाल में फँसाया था। झूठे प्रेम के जाल में फँसाने के बाद नसीम ने उसके साथ बलात्कार किया।

इसके साथ ही, युवती का जबरन धर्मान्तरण करवाने के लिए उसने पीड़िता से जबरदस्ती कलमा भी पढ़वाया। पीड़िता ने आरोपित के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है और अब वह जेल में कैद है। पीड़िता द्वारा ख़ुदकुशी का प्रयास करने की घटना शुक्रवार 19 नवंबर की है। उस दिन पीड़िता द्वारा आरोपित के खिलाफ की गई शिकायत के मामले में अदालत में सुनवाई होने वाली थी। इसलिए पीड़िता को आरोपित नसीम के खिलाफ CPRC की धारा 164 के तहत कोर्ट में अपना बयान दर्ज कराना था। मगर, सुनवाई से पहले ही आरोपित के परिजनों की धमकियों से तंग आकर पीड़िता ने नींद गोली खाकर सुसाइड करने का प्रयास किया। बेहोशी की हालत में उसके दोस्त सहित दूसरे लोग उसे विक्टोरिया अस्पताल ले गए, जहाँ उसकी सेहत फ़िलहाल स्थिर बनी हुई है।

बता दें कि पीड़िता जबलपुर के अधारताल थाना क्षेत्र के अधारताल हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रहती है। एक दोस्त की बर्थडे पार्टी में वह आरोपित नसीम अहमद से मिली थी। उस दौरान नसीम ने अपना असली नाम छुपाकर खुद का परिचय अंकित ठाकुर के तौर पर दिया था। उसने पीड़िता से अपनी शादी को लेकर भी झूठ बोला और शादी का झाँसा देकर उसे अपने जाल में फँसा लिया। उसके बाद आरोपित ने पीड़िता के साथ बलात्कार किया और इसका वीडियो भी बना लिया। पीड़िता को कुछ दिनों के बाद अपने दोस्तों से पता चला कि जिसे वह अंकित समझ रही है, वह असल में नसीम अहमद है। इसके बाद उसे पता चला कि वह लव जिहाद का शिकार हो गई है। पीड़िता के अनुसार, आरोपित ने जबरन उससे कलमा भी पढ़वाया था। बता दें कि कलमा इस्लाम में धर्मान्तरण करवाने के लिए पढ़वाया जाता है।

error: Content is protected !!