गिरफ्तारी के कुछ घंटों में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मिली जमानत, आपत्तिजनक बयान पर हुई थी गिरफ्तारी

गिरफ्तारी के कुछ घंटों के भीतर ही केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को कोर्ट से जमानत मिल गई है. इससे पहले मंगलवार को दिन में उन्हें गिरफ्तार किया गया था. महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को ‘थप्पड़ मारने’ वाले बयान के चलते उनके खिलाफ मामला दर्ज हुआ था जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की थी.

बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बारे में विवादित टिप्पणी की वजह से राजनीतिक घमासान शुरू होने और राज्य में व्यापक विरोध प्रदर्शन के बाद केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद राणे को रायगढ़ जिले के महाड ले जाया गया जहां उन्हें मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया गया.

बीजेपी के नेता राणे की विवादास्पद टिप्पणी के खिलाफ रायगढ़ जिले के महाड के साथ-साथ नासिक और पुणे में मामले दर्ज किए गए. पूर्व मुख्यमंत्री राणे की टिप्पणी के बाद राज्य में सत्तारूढ़ दल शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने व्यापक विरोध प्रदर्शन किया.

नारायण राणे को उनकी ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ के दौरान रत्नागिरि जिले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पूर्व प्रमुख सदाशिवराव गोलवलकर ‘गुरुजी’ के पैतृक गांव गोलवली में हिरासत में लिया गया और संगमेश्वर थाना ले जाया गया. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुंबई से 160 किलोमीटर दूर महाड में दर्ज प्राथमिकी के सिलसिले में राणे को दोपहर करीब पौने तीन बजे रायगढ़ पुलिस के हवाले कर दिया गया.

इससे पहले, नारायण राणे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के खिलाफ दिए गए अपने कथित बयान का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने ऐसी टिप्पणी कर कोई अपराध नहीं किया है. गिरफ्तारी से पहले- मामले में उनकी गिरफ्तारी की खबरों पर राणे ने कहा कि वह कोई ‘आम आदमी’ नहीं हैं और इस तरह की खबरों के खिलाफ उन्होंने मीडिया को आगाह किया.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ”मैंने कोई अपराध नहीं किया है. आप खबरों का सत्यापन कर उन्हें टीवी पर दिखाएं नहीं तो मैं आपके (मीडिया के) खिलाफ मामला दर्ज कराऊंगा. कोई अपराध ना करने के बावजूद मीडिया में मेरी ‘आसन्न’ गिरफ्तारी की अटकलें लगाई जा रही हैं. आपको क्या लगता है कि मैं कोई आम आदमी हूं?”

error: Content is protected !!