बहन से मिलने दुर्गा माता मंदिर पहुंचीं मां शूलिनी, लोगों ने की पुष्प वर्षा

Sirmaur News: क्षेत्र की आराध्य देवी मां शूलिनी शुक्रवार को अपनी बहन से मिलने के लिए दुर्गा माता मंदिर पहुंचीं। इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। कोरोना के चलते इस बार लोगों की भीड़ को रोकने के लिए प्रशासन ने क्षेत्र में आने-जाने पर प्रतिबंध लगाया था। पहले मां शूलिनी मेला काफी धूमधाम से मनाया जाता रहा है, लेकिन कोरोना के चलते प्रशासन अब मात्र औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए ही इस मेले का आयोजन कर रहा है। यही कारण रहा कि आम लोगों के लिए माता शूलिनी के दर्शन करने पर रोक लगाई गई थी।

शूलिनी मंदिर को जाने वाले सभी रास्तों में पुलिस की तैनाती कर दी गई थी। केवल उन्हीं लोगों को जाने दिया जा रहा था, जिनकी ड्यूटी मेले के आयोजन में लगी थी। मां शूलिनी की शोभायात्रा के चलते दुकानें सुबह से ही बंद रहीं और 3 बजे के बाद बाजार खुले। शूलिनी माता मंदिर में शुक्रवार सुबह पूजा-अर्चना का कार्यक्रम शुरू हुआ। प्रशासनिक अधिकारियों व मंदिर के पुजारी सहित उपस्थित अन्य लोगों ने मंदिर परिसर में पूजा-अर्चना के बाद मां शूलिनी को लेकर मंदिर के मुख्य पुजारी गंज बाजार स्थित दुर्गा माता मंदिर की ओर चले।

वैसे माता को पालकी में ले जाया जाता है लेकिन पिछले 2 वर्षों से कोरोना के चलते मंदिर के मुख्य पुजारी ही उन्हें उनकी बहन से मिलाने के लिए मंदिर ले जा रहे हैं। जैसे ही मां शूलिनी चौक बाजार में पहुंचीं तो आसपास के घरों की छतों पर मौजूद लोगों ने उन पर पुष्प वर्षा की और लोगों ने अपने घरों की खिड़कियों व छतों पर चढ़कर मां शूलिनी के जयकारे लगाए।

Share This News:

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,626 other subscribers

error: Content is protected !!