70 वर्षों से क्रंदन कर रही थी भारत माता, 2014 के बाद किया मुस्कराना शुरू- गोविंद देवगिरी

लखनऊ: अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर के कोषाध्यक्ष और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मेंबर गोविंद देवगिरी महाराज (Govind Devgiri Maharaj) ने कहा है कि भारत माता पिछले 70 वर्षों से खुश नहीं थी, 2014 के बाद उसने थोड़ा-थोड़ा मुस्कुराना शुरू किया है.

पुणे में शुक्रवार, समग्र वंदे मातरम ग्रंथ प्रकाशन समारोह में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए गोविंद देवगिरी महाराज बोले कि वंदेमातरम गीत में जो अनेकों विशेषण कहे गए हैं, वो आज लागू नहीं होते हैं.

क्या भारत माता सुहासिनी हैं, क्या आज भारत माता मधुर हास्य कर रही हैं? वो हास्य नहीं, क्रंदन कर रही हैं. इस पर हमें विचार करना चाहिए कि उसका प्रत्येक विशेषण यथार्थ रहे. आज भारत माता कई प्रकार से क्रंदन कर रही हैं. मुझे तो लगता है वो पिछले 70 वर्षों से क्रंदन कर रही थीं और 2014 में उसने थोड़ा मुस्कुराना शुरू किया है.

गोविंद देवगिरी महाराज ने आगे कहा कि, ‘हमारी परंपराओं को झुठलाकर, हमारे इतिहास- भूगोल को झुठलाकर, हमारे तीर्थों को फर्जी बताकर, भगवान राम को काल्पनिक कहकर, राम सेतु किसी के द्वारा बनाया ही नहीं गया ये कहकर और इसका हलफनामा देकर हमारी सरकारों ने जो पाप किया वो आपके पाप आपके माथे पर भी लगा हुआ है.’

error: Content is protected !!