डेढ़ करोड़ सरकारी कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा, वेरिएबल डीए में दुगना इजाफा

केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्रालय ने शुक्रवार को केंद्रीय कर्मचारियों के लिए वेरिएबल डियरनेस अलाउंस यानी डीए में इजाफे का ऐलान किया। इसका लाभ 1.5 करोड़ कर्मचारियों को मिलेगा। पहले वेरिएबल डीए 105 रुपए प्रति महीना था जिसे बढ़ाकर 210 रुपये प्रति महीना कर दिया गया है। यह बीते 1 अप्रैल 2021 से ही प्रभावी होगा।

इस वेरिएबल डियरनेस अलाउंस की वजह से केंद्रीय कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में भी इजाफा होगा। रेलवे, खनन, ऑइल फील्ड्स, बंदरगाहों और केंद्र सरकार के अन्य प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा। यह दर कांट्रैक्ट या कैजुअल दोनों ही तरह के कर्मचारियों पर समान रूप से लागू होंगी।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के साथ बात करते हुए सेंट्रल चीफ लेबर कमिश्नर डीपीएस नेगी ने कहा कि केंद्रीय क्षेत्र में काम कर रहे कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में प्रति महीने 105 रुपये से लेकर 210 रुपये तक का इजाफा किया गया है। एक बयान में श्रम मंत्रालय ने यह नोटिफाई किया है कि वैरिएबल डीए का रिवाइज्ड रेट 1 अप्रैल 2021 से प्रभावी होगा।

श्रम मंत्रालय के मुताबिक, “ऐसे समय में जब देश COVID-19 महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है, केंद्रीय क्षेत्र में विभिन्न अनुसूचित रोजगारों में लगे विभिन्न श्रेणी के श्रमिकों को एक बड़ी राहत देते हुए, श्रम और रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार ने 1.4.2021 से वेरिएबल डियरनेस अलाउंस की दर को रिवाइज करने का फैसला किया है।”

error: Content is protected !!