आरोपी बीडीओ को गिरफ्तार करने की उठी मांग, विधायक और प्रशासन के खिलाफ फूटा गुसा

नगर पंचायत करसोग में एक सफाई कर्मचारी ने बीडीओ करसोग पर काम के दौरान जाति सूचक शब्द कहने का आरोप लगाया था। काफी संघर्ष के बाद बीडीओ के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। 6 दिन बाद भी गिरफ्तारी न होने से नाराज सफाई कर्मचारी लगातार हड़ताल पर हैं। आज भी नगर पंचायत के बाहर सफाई कर्मचारियों ने प्रशासन और एमएलए के खिलाफ जमकर नारे बाजी की।

वहीं सफाई कर्मचारी बिमला, तारा चंद, प्रतिभा, सत्या,नरेश, उमा देवी आदि ने कहा कि हम पूरे कोरोना काल में सफाई करते रहे लेकिन अब एमएलए और प्रशासन हमें निकालना चाहते हैं। जबकि हमारे लिए उसने कुछ नहीं किया। हालांकि एमएलए खुद आरक्षित सीट से जीते हुए हैं। उन्होंने यह भी कहा की हमारी लड़ाई इंसानियत की है किसी जाति विशेष के खिलाफ नही है। हम समाज की गंदी सोच के खिलाफ है। वहीं बीडीओ के ऊपर पद का दुरुपयोग कर अपने समर्थन में पंचायत प्रतिनिधियों को जमा करने का आरोप भी लगाया गया।

छह दिन से चल रहा धरना, सरकार चुप आखिर क्यों?

सफाई कर्मचारी प्रतिभा ने कहा कि व्यापार मंडल ने हमारे के खिलाफ बाजार में कभी सफाई नही हुई, हमारे खिलाफ शिकायत की है, यह बहुत शर्मनाक है। हम पूरे कोरोना काल में सफाई करते रहे, बाजार की सफाई लगातार की गई, इसकी वीडियो ग्राफी होती है और ग्रुप में डाला जाता रहा है। इस केश को दबाने के लिए व्यापार मंडल प्रधान इस तरह के हथकंडे अपना रहा है। ये उनकी गलत और महिला विरोधी सोच को दर्शाता है। उनको जिस समय हमारे साथ खड़ा होना था वे विरोध कर रहे हैं।

उन्होंने एमएलए चुनाव के भावी युवा उम्मीदवारों को भी जम कर लताड़ा और कहा कि वे आए दिन हम से वोट मांगते हैं लेकिन आज वह हमारे साथ नहीं दे रहे। आने वाले चुनाव में उनको भी परिणाम भुगतने होंगे।

भीम आर्मी हिमाचल प्रदेश के पद अधिकारी पीड़ित महिला वा सफाई कर्मचारियों से मिले। भीम आर्मी के प्रदेश सचिव पंकज ने कहा कि अगर सोमवार तक आरोपी बीडीओ को गिरफ्तार नही किया गया तो भीम आर्मी पूरे प्रदेश में आंदोलन करेगी।

error: Content is protected !!