पबजी; सात दिनों में गई कई जानें, जिंदगी में जहर घोल रही ऑनलाइन गेम

आजकल बच्चों और युवाओं में पबजी गेम खेलने का नशा ऐसा चढ़ा है कि वो चंद मिनटों में अपनी जिंदगी ही खत्म कर ले रहे हैं। मोबाइल पर पबजी खेलते-खेलते युवा कब मौत को गले लगाते हैं, उन्हें खुद ही नहीं मालूम पड़ता है।

इसकी लत इतनी गंदी है कि एक बार कोई बच्चा या युवा इसका शिकार हो गया तो उसकी जान जानी पक्की है। माता-पिता भी इस गेम से खासे चिंतित रहते हैं कि उनका बच्चा तो इसका शिकार नहीं हो रहा, लेकिन कई बार बच्चे घर में छुपकर या घर से बाहर जाकर भी गेम खेलने के दीवाने रहते हैं। देश में इन दिनों फिर से पबजी गेम की वजह से बच्चों की मौत होने की खबरें सामने आ रही हैं।

मध्यप्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में बच्चे तेजी से इस गेम के शिकार हो रहे हैं। यूजर्स इस गेम में इस कदर मशगूल हो जाते हैं कि कब वह मौत को गले लगाते हैं उन्हें भी नहीं पता चलता। अमर उजाला वेबसाइट आज कुछ ऐसी ही खबरें आपके सामने पेश कर रही है, जिसमें देश के अलग-अलग जगहों पर पबजी खेलने वालों के साथ कौन-कौन सी घटनाएं हुई हैं।

मध्यप्रदेश में छात्रा ने फांसी लगाई
इंदौर में एक छात्रा पबजी खेलते-खेलते फांसी के फंदे पर झूल गई। हीरानगर थाना क्षेत्र के न्यू गौरी नगर में छात्रा कंप्यूटर कोर्स करने के नाम पर कम्प्यूटर कोर्स शुरू की। इसी दौरान वह ऑनलाइन गेम पबजी खेलती थी और पिछले हफ्ते उसने खुदकुशी कर ली। जानकारी के मुताबिक, मृतक का भाई संजय ऑफिस से जब शाम को घर लौटा तो कमरे में राधा फंदे पर झूलती मिली। संजय ने बताया कि उसकी बहन को ऑनलाइन गेम पबजी खेलने का शौक था। एक दो दिन से वह तनाव में थी।

देवास में पबजी खेलने के दौरान हार्ट अटैक से बच्चे की मौत
मध्यप्रदेश के देवास में पबजी खेलने के दौरान एक बच्चे को हार्ट अटैक आने से मौत हो गई। दीपक राठौर नाम के एक युवक की मौत गेम खेलने के दौरान हो गई। दीपक पबजी गेम खेल रहा था, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है। आशंका है कि दीपक पबजी नहीं, बल्कि बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया खेल रहा होगा या फ्री फायर खेल रहा होगा, क्योंकि आधिकारिक तौर पर पबजी भारत में बैन है। मौत के कारण की भी अभी पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन पहली नजर में इस हादसे को हार्ट अटैक बताया गया।

खरगोन में बच्चा हुआ बेहोश
मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के सनावद में एक नाबालिग पबजी का ऐसा शिकार हुआ कि उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। परिजनों के मुताबिक, ऑनलाइन गेम पबजी खेलने के बाद लड़का अचेत हो गया। आनन फानन में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने उसे इंदौर रेफर कर दिया है। बच्चे की हालत नाजुक बनी हुई है।

चंदौली में युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान
उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले में एक पिता को पबजी खेल रहे बेटे को डांटना भारी पड़ गया। पिता की डांट से नाराज 17 वर्षीय बेटे ने ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली। परिवार वालों का जब इसकी जानकारी मिली तो सभी हैरान रह गए। धीना थाना प्रभारी अतुल प्रजापति ने बताया कि बीती रात रेलवे ट्रैक पर मिली लाश कुतुबुद्दीन के तौर पर पहचानी गई , पुलिस ने बताया रात पिता की डांट फटकार के बाद युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।

रोहतक में गेम खेलने के बाद पैसे चोरी का आरोप
हरियाणा के रोहतक शहर के सेक्टर-27 थाना क्षेत्र के रहने वाले व्यक्ति ने एक युवक पर उसके नाबालिग बेटे को पबजी गेम की आदत डालने के बाद दबाव बनाकर घर से पैसे चोरी करवाने का आरोप लगाया है। नाबालिग के पिता ने युवक को उसके बेटे से पैसे लेते पकड़ लिया। इसकी शिकायत सेक्टर-27 थाने में की गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

गेम खेलने वाले बच्चों पर अभिभावक रखें नजर
दरअसल, भारत में पबजी बैन है। हाल ही में बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया भारत में लॉन्च हुआ था तो कंपनी ने कहा था कि गेम को 18 साल से कम उम्र के बच्चे नहीं खेल सकेंगे। यदि ऐसे बच्चे गेम को खेलना चाहते हैं तो उन्हें अपने माता-पिता से इजाजत लेनी होगी और उनका मोबाइल नंबर देना होगा। फिर एक अभिभावक के तौर पर माता-पिता की जिम्मेदारी है कि वह अपने बच्चों के फोन पर नजर रखें और संभव हो तो उसे ज्यादा गेम खेलने से रोकें।

error: Content is protected !!