महाराष्ट्र में कोविड लॉकडाउन 1 जून तक बढ़ाया, बिना पास नही मिलेगी एंट्री

देश कोरोनावायरस की दूसरी लहर से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हालात ये हैं कि हर दिन कोरोना संक्रमण के मामले 4 लाख के करीब पहुंच रहे हैं। कोरोना महामारी से सबसे ज्‍यादा प्रभावित महाराष्‍ट्र दिखाई दे रहा है।

कोरोना के संक्रमण को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में लॉकडाउन की अवधि को एक जून तक के लिए बढ़ाने का फैसला किया है। इस दौरान पहले की तरह प्रतिबंध जारी रहेंगे। हालांकि उद्धव ठाकरे की नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी की सरकार ने महाराष्ट्र में एंट्री के लिए कोरोना की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव होना अनिवार्य कर दिया है। नए गाइडलाइन्स की मुताबिक आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट में निगेटिव होने पर ही लोगों को एंट्री मिलेगी।

खबर है कि बुधवार को कैबिनेट बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय और मंत्रियों ने लॉकडाउन को अगले 15 दिनों तक (31 मई) बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है। कैबिनेट की बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में अभी जिस तरह के हालात है उसे देखने के बाद में 15 दिनों का लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा या नहीं इस पर आखिरी फैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेंगे।

बता दें कि महाराष्‍ट्र में लॉकडाउन का असर अब कई जिलों में देखा जा रहा है। राज्‍य सरकार के अधिकारियों के मुताबिक कोरोना के दैनिक मामलों में अब कमी देखी जा रही है लेकिन अधिकांश जिलों में अभी भी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

अधिकारियों ने बताया कि राज्‍य के 12 जिलों में कोरोना के बढ़ते मामलों में कमी आई है लेकिन ये राज्‍य का एक तिहाई हिस्‍सा ही है। शेष दो तिहाई हिस्‍से में या तो हालात स्थिर हैं या फिर कोरोना केस डरा रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि अगर लॉकडाउन हटाया गया तो कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ सकते हैं।

error: Content is protected !!