देवताओं के कारिंदों से डर कर भागी कुल्लू पुलिस, कोरोना कर्फ्यू तोड़ने पर भी नही हुई कोई कार्यवाही

हिमाचल में कानून व्यवस्था के हालात कैसे है। यह इस बात से समझ आ जाता है कि हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में कोरोना कर्फ्यू की उल्लंघना पर पहुंची पुलिस को दबे पांव भागना पड़ा। इस घटना दौरान देवता के कारिंदों ने गाड़ी को घेर लिया और माहौल तनावपूर्ण हो गया। मौके की नजाकत को देखते हुए पुलिस ने अपनी गाड़ी 100 मीटर पीछे की और दौड़ाई और पुलिस जवान लौट गए।

जानकारी के अनुसार, कुल्लू घाटी के विश्व धरोहर गांव नग्गर का यह मामला है। कोरोना कर्फ्यू के बीच 20 से ज्यादा लोग मौके पर एकत्र थे। इस पर पुलिस पहुंची थी, और कानून को लागू करने की कोशिशें की गई लेकिन पुलिस दल को देवता के कारिंदों ने भगा दिया।

क्या है पूरा मामला

दरअसल, गुरुवार शाम के समय देवी-देवताओं के देवकार्य में उपस्थित हुए देवलुओं की भीड़ को हटाने के लिए पुलिस दल पहुंचा। इस पर देवता के कारिंदे उग्र हो गए और उन्हें वहां से भागने पर मजबूर होना पड़ा। हर वर्ष नग्गर में माता त्रिपूरा सुंदरी के प्रांगण में छह दिवसीय शाढ़ी जाच का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष यह जातर मेला 18 से 24 मई तक मनाया जा रहा है जाग के तीसरे दिन जब नग्गर क्षेत्र के तीन देवी देवता माता पटंति, माता त्रिपूरा सुंदरी व नाग देवता एक सुक्ष्म देवकार्य के लिए एकत्रित हुए तो वहां पर देवलुओं की भीड़ को देखते हुए पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तीनों देवी-देवताओं को पुलिस इस कार्यवाही पर एतराज हुआ और सभी देवता के कारिंदे उग्र हो गए, जिससे पुलिस दल से वहां से भागने पर मजबूर होना।

दूसरी बार पहुंची थी पुलिस

हांलाकि, एक बार तो पुलिस वहां से चली गई, मगर दूसरी बार पुन: भीड़ को देखा तो उन्हें उल्टे पांव वहां से जाना पड़ा। कोरोना काल के चलते सामाजिक दूरी, मास्क पहनना जहां जरूरी हैं, लेकिन देवी-देवताओं के कारिंदों ने पूलिस की कार्यवाही पर एतराज जताया। गौर रहे कि नग्गर में जहां शाढ़ी जाच को लेकर देवकार्य चला वहीं पर वायरल वीडियों की क्षेत्र में बड़ी चर्चा है।

अभी तक पुलिस ने नही की कोई कार्यवाही

इस बारे अभी तक कोई कानूनी कार्यवाही नही की गई है। हमारी टीम ने एसडीपीओ मनाली को कॉल किया तो उनका कहना था कि पुलिस अधीक्षक कुल्लु मीडिया से बात करेंगे। पुलिस अधीक्षक कुल्लू के आफिस में कॉल की गई तो जानकारी मिली कि पुलिस अधीक्षक आफिस में नही है। जब हमारी टीम से इस घटना पर की गई कार्यवाही के बारे सवाल पूछा तो पुलिस अधिकारी ने जानकारी नही होने की बात कही। इस से साफ जाहिर होता है कि कुल्लू पुलिस इस मामले में कार्यवाही करने से कतरा रही है और हर आजजन के खिलाफ केस दर्ज करने वाली पुलिस देव कारिंदों के डर चुप है।

error: Content is protected !!